बिलासपुर

अवैध शराब बेचने के आरोप में पकड़ाई युवक की जेल में संदिग्ध मौत, परिजनों ने कोटा पुलिस पर लगाया पैसे मांगने और मारपीट का आरोप

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – रविवार को एक आरोपित युवक की मौत से सनसनी फ़ैल गई है। जिसके बाद मृतक के परिजनों ने पुलिस के ऊपर मारपीट का आरोप लगाया है। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को आबकारी विभाग और कोटा पुलिस की संयुक्त टीम ने ग्राम गनियारी में अवैध शराब को लेकर कार्रवाई की थी जहां चार लोगो के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही हुई थी।

Advertisement

जिसमे ग्राम गनियारी में रहने वाले उमेंंद वर्मा पिता रंगलाल वर्मा उम्र 24 वर्ष को भी पुलिस ने 13 लीटर शराब के साथ गिरफ्तार किया था। आरोपित को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया, न्यायालय के आदेश पर आरोपित को शुक्रवार को ही जेल भेज दिया गया। जहां उसकी तबीयत खराब हो गई। जिसके बाद जेल प्रबंधन ने आरोपी को इलाज के लिए सिम्स में भर्ती कराया। जहां रविवार की रात उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। जिसकी सूचना रविवार को मृतक के परिजनों को कोटा थाना से सरपंच के माध्यम दी गई। जिसके बाद सोमवार को सभी सिम्स पहुंचे। जहा उन्होंने कोटा पुलिस की उक्त कार्यवाही के दौरान मृतक के साथ बर्बरता पूर्वक मारपीट करने का आरोप लगाया है, मृतक के पिता ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना के बाद शनिवार को वह अपने पुत्र उमेंद्र वर्मा से मुलाकात करने वह जेल गया था, जहां उसने सीने में दर्द होने और पुलिस द्वारा मारपीट करने की जानकारी अपने पिता को दी थी, जिसके बाद रविवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई, इधर इस पूरे मामले में कोटा पुलिस की कार्रवाई पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने भी सवाल उठाया है, फ़िलहाल मामले में मेडिकल रिपोर्ट और निष्पक्ष जांच के बाद ही वास्तविक स्थिति साफ हो सकेगी।

Advertisement

मामले में मृतक युवक के पिता रंगलाल वर्मा ने कोटा पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है, जहाँ उन्होंने बताया कि उनके लड़के को छोड़ने के लिए 1 लाख रुपए की मांग पुलिस वाले कर रहे थे, जिसे देने में असमर्थता जताने पर ही उसे जेल भेज दिया गया, इस दौरान उसके साथ बहुत मारपीट की गई, जिससे ही उसकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई। बहरहाल मामले में पुलिस उच्च अधिकारियों से पीड़ित पिता ने न्याय दिलाने की गुहार लगाई है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button