बिलासपुर

प्रीपेड बिजली मीटर लगाने का काम मार्च 2024 से होगा शुरू….स्मार्ट प्रीपेड मीटर से मिल सकेगा सही बिल

Advertisement


(इरशाद अली संपादक लोकस्वर टीवी) : बिलासपुर – केंद्र सरकार के केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण ने सभी राज्यों में स्मार्ट डिजिटल मीटर लगाने की योजना बनाई है। प्राधिकरण ने उपभोक्ताओं के पोस्ट पेड मीटर बदलकर प्रीपेड मीटर लगाने के निर्देश दिए हैं। इसके लिये टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। प्रीपेड मीटर को पहले रिचार्ज करना होगा। इसके बाद उपलब्ध बैलेंस के आधार पर बिजली का इस्तेमाल किया जा सकेगा। बैलेंस खत्म होने पर बिजली बंद हो जाएगी। बैलेंस खत्म होने के तीन दिन पहले उपभोक्ता को मैसेज के जरिए सूचित किया जाएगा। जिससे की उपभोक्ता अपने बिजली के मीटर को रिचार्ज कर सकें। इससे बिजली विभाग में मीटर रिडिंग लेने के लिए कर्मचारी को भेजने की जरूरत नहीं होगी। इसके साथ ही बिजली के इस्तेमाल के बाद बिल न भरने वालों पर भी लगाम लगेगी। जिससे विद्युत कंपनी को बकाया राशि वसूलने जैसी दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Advertisement


वर्तमान में सभी जगहों पर पोस्ट पेड मीटर लगा हुआ है। ऐसे में बिजली इस्तेमाल करने के महीने भर बाद इसका बिल आता हैे। ऐसे में बिजली कंपनी को बिल का भुगतान प्राप्त करने में डेढ महीने का समय लग जाता है। इसके साथ ही बहुत से लोग व संस्थान बिजली बिल का भुगतान भी नहीं करते है। जिसकी वजह से बिजली कंपनी को नुकसान होता है। इसके साथ ही मीटर रीडिंग लेने के लिये घरों तक कर्मचारी भेजना पड़ता है। कई बार रीडिंग गलत होने की वजह से बिल अधिक या कम आ जाता है। जिसके वजह से लोगों के साथ ही कंपनी को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। प्रीपेड मीटर लगने से ये सभी दिक्कतें दूर होने का दावा किया जा रहा है।

Advertisement


इस संबंध में आज बिलासपुर मुख्यालय में बिलासपुर क्षेत्र, अम्बिकापुर क्षेत्र, रायगढ क्षेत्र एवं रायपुर परियोजना के अधिकारी तथा जीनस कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित की गई थी, जिसमें मुख्य अभियंता परियोजना आर.पी.प्रसाद, मुख्य अभियंता (बिलासपुर क्षेत्र/रायगढ़ क्षेत्र) ए.के. धर, मुख्य अभियंता एस.सेलट अति.मुख्य अभियंता डी.के.भोजक एवं क्षेत्र के अधीक्षण अभियंता व कार्यपालन अभियंता तथा प्रीपेड स्मार्ट मीटर एजेंसी जीनस कंपनी के प्रतिनिधि मनोज गोयल, प्रिंस शर्मा एवं अन्य अधिकारियों की उपस्थिति रही।

Advertisement


छत्तीसगढ़ पॉवर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड बिलासपुर क्षेत्र के मुख्य अभियंता ए.के.धर ने बताया कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर को मोबाइल के बैलेंस की तरह रिचार्ज करना होगा।ं जितने रूपए का रिचार्ज मीटर में होगा उतनी राशि की ही बिजली का इस्ंतेमाल किया जा सकेगा। यदि रात के समय प्रीपेड का बैलेंस खत्म होता है तो तत्काल बिजली बंद नहीं की जाएगी। मीटर रिचार्ज करवाने के लिए लोगों को सुबह तक समय दिया जायेगा। सुबह तक इस्तेमाल की गई बिजली का बिल भुगतान रिचार्ज करने के बाद बैलेंस में से ही खुद ब खुद कट जाएगा। स्मार्ट मीटर के लगने से उपभोक्ताओं को सही बिल मिल सकेगी साथ ही वे अपने बिल की निगरानी स्वयं कर सकेंगे।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button