बिलासपुर

देखें VIDEO : ये कौन पंच है जो महिला पर FIR वापस लेने, समझौते के लिए दबाव डाल रहा है.. क्या पुलिस को नजर नहीं आया यह वायरल वीडियो

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर। बिलासपुर में विभिन्न अपराधों को अंजाम देने वाले आरोपियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि अब वे सीधे-सीधे पीड़ित पक्ष को समझौते के लिए साम-दाम दंड-भेद किसी का भी उपयोग कर अपना उल्लू सीधा करने का दुस्साहस करने से भी बाज नहीं आते। यहां हम जो वीडियो प्रस्तुत कर रहे हैं उसमें एक महिला पर 2 लोग समझौता करने के लिए लगातार दबाव डाल रहे हैं। वे महिला से कह रहे हैं कि तूमने FIR कराया है। तो अब क्या विचार है..? इसका कोई रास्ता है बीच का..? FIR खत्म कराओ..महिला कह रही है मै का रास्ता बताहौं..अब ओखर रास्ता पुलिस ही बताहै।। या फेर अदालत बताहै…मै का बताए सकिहौं…. वीडियो में दिख रहा व्यक्ति कह रहा है..हम पंच के नाते समझौत कराए आए हन्… बतौर पंच पीड़ित महिला को समझा (दबा) रहा व्यक्ति घुमा फिरा कर यह पूछ रहा है कि वह आखिर क्या चाहती है.. (एफ आई आर वापस लेने के एवज में) ये उसको बता दे जिससे (लेन देन कर) समझौता हो सके। इस पर महिला ने उस व्यक्ति को सुनाते हुए कहा कि अगर इस मामले में समझौता होना था तो 1 साल तक क्यों नहीं किया… महिला ने कहा मेरी जगह-जगह बेइज्जती हुई है. समाज में, गांव में सभी जगह..अगर समझौता होना था तो अभी तक क्यों नहीं हुआ..? अब मैं क्या बताऊं.. अब या त् पुलिस जानही या अदालत..! महिला ने कहा इज्जत के डर से मैं 1 साल तक बैठी रही.. लेकिन क्या हुआ..? मेरे समाज में 50 गांव की बैठक हुई..आखिर मेरी ही तो इज्जत गई.. इसलिए अब जो भी करेगी पुलिस और अदालत करेगी..वीडियो में महिला के द्वारा इतना कहने के बाद भी समझौता कराकर FIR वापस कराने आया व्यक्ति बार-बार उसे समझा ही रहा है। यहां यह बता दें कि वीडियो में कुल 2 लोग महिला को एफ आई आर वापस लेने के लिए बार-बार बोल रहे हैं। इनमें से एक व्यक्ति का चेहरा दिखाई दे रहा है जबकि दूसरे व्यक्ति का चेहरा दिखाई नहीं दे रहा है। बीच-बीच में सिर्फ आवाज सुनाई दे रही है। दोनों खुद को पंच शायद (ग्राम पंचायत का) बता रहे हैं। यह विडंबना की बात है कि काफी दिनों से वायरल इस वीडियो पर पुलिस कोई संज्ञान नहीं ले रही है। यह बहुत गंभीर मामला है। किसी महिला पर उसके द्वारा किए गए f.i.r. को वापस लेने के लिए बार-बार दबाव डालना अपने आप में अपराध ही है। इसके बाद भी पुलिस जिस तरह हाथ पर हाथ धरे बैठी है। उससे ऐसी आशंका होती है कि पुलिस की शरण में जाकर एफ आई आर लिख आने वाली महिला के साथ आगे जाकर दबंगों के द्वारा आगे जाकर कुछ भी किया जा सकता है। इनकी बात नहीं मानने पर महिला की जान पर भी कई तरह के खतरे मंडराते दिखाई दे रहे हैं।

Advertisement

अब आखरी बात यह है कि यह वीडियो बिलासपुर शहर के ही एक थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। और उस थाने की पुलिस भी वीडियो में दिख रहे व्यक्ति को जानती पहचानती है। फिर भी अगर पुलिस इस वीडियो को संज्ञान में नहीं लेती है। क्या पुलिस इस तरह के कृत्य को अपराध नहीं मानती। जिस थाने के द्वारा भी अपनी इस लापरवाही से पुलिस प्रशासन के नाम पर बट्टा लगाने की कोशिश हो रही है उसके अफसरों के खिलाफ और इसी तरह महिला पर दबाव डालने वाले लोगों (जो खुद को पंच बता रहे हैं) के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई अपेक्षित है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button