देश

इनकम टैक्स की रेड में कानपुर के ज्वेलर की BMW कार से मिला 12 किलो सोना…..

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : कानपुर में मशहूर ज्वेलर राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वेलर्स के यहां इनकम टैक्स की छापेमारी में करोड़ों की टैक्स चोरी का पता चला है। कारोबारी की BMW कार की मैट के नीचे से 12 किलो सोना बरामद हुआ है। कारोबारी के यहां चार दिन से छापेमारी चल रही है। अब तक बेहिसाब सोना व रियल एस्टेट के कारोबार के दस्तावेज मिले हैं। पूरे सोने की अभी तक तौल नहीं हो पाई है। जांच अभी भी जारी है, दूसरे राज्यों के आयकर अधिकारी भी कार्रवाई में शामिल किए गए हैं।

Advertisement

बताया जाता है कि जांच के दौरान ही जब इनकम टैक्स की टीम ने कारोबारी की बीएमडब्ल्यू कार को चेक किया तो मैट के नीचे से 12 किलो सोना निकला। गाड़ी की मैट के नीचे सोना देखकर अधिकारी भी हैरान रह गए। इनकम टैक्स की टीम देशभर में बुलियन बिजनेसमैन और रियल स्टेट से जुड़े लोगों के 55 ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही है।

Advertisement

बताया जाता है कि इनकम टैक्स टीम को अग्रवाल फैमिली के घर के बाहर खड़ी बीएमडब्ल्यू कार को देखकर कुछ अजीब सा लग रहा था। कार इस तरह खड़ी थी, ना कोई उसके पास जा रहा था और ना ही किसी को कुछ दिख रहा था जबकि घर के लोग बार-बार उसी कार को देख रहे थे।

इनकम टैक्स अधिकारियों को इस पर कुछ शक हुआ तो उन्होंने कार की तलाशी ली। तलाशी के दौरान टीम को फर्श के नीचे कुछ रखा महसूस हुआ। जो पूरी तरह से ढंका हुआ था। अधिकारियों ने जब मैट को हटाया तो नीचे का नजारा देखकर हैरान रह गए। मैट के नीचे सोने की छोटी-छोटी सिल्लियां रखी थी। इनका वजन कराया गया तो कुल 12 किलो था।

ज्वेलर के घरों पर भी पहुंचीं टीमें

इससे पहले शनिवार को करोड़ों का कैश बरामद हुआ था। बुधवार सुबह से ज्वैलर कैलाश नाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स प्राइवेट लिमिटेड, उनके भाई अमरनाथ अग्रवाल की राधा मोहन पुरुषोत्तम दास ज्वैलर्स, एमरॉल्ड के प्रमोटर संजीव झुनझुनवाला के साथ चांदी के दो बड़े कारोबारी सुरेंद्र जाखौदिया व सौरभ वाजपेयी के यहां कार्रवाई हो रही है। नयागंज बाग्ला बिल्डिंग में मिले दस्तावेज के आधार पर टीम कारोबारियों के सिविल लाइंस, लाल बंगला आवासों पर भी गई।

नौकर को डीलर बनाकर खरीद-फरोख्त

सूत्रों के मुताबिक कारोबारी के यहां से कालेधन से जुड़े कागजात मिले हैं। नौकरों को डीलर दिखाकर सोना-चांदी की बड़ी मात्रा में खरीद फरोख्त की छानबीन में कई कारोबारियों के तार जुड़े हैं। लखनऊ, दिल्ली और कोलकाता स्थित ठिकानों पर भी कार्रवाई चल रही है। यहां के अधिकारी दूसरे जिलों की टीमों के संपर्क में हैं।

Advertisement

100 अफसर और लगाए गए

कारोबारियों के डिजिटल डाटा खंगाले गए हैं। इसमें भी खेल मिला है। पहले दिन 200 अफसर इस कार्रवाई में लगे थे। अब 300 अफसर लगे हैं। डिजिटल लेन-देन में भी खेल मिला है। इसकी जांच की जा रही है। यह छापेमारी अभी 24 घंटे और चलेगी। रियल इस्टेट से गठजोड़ की जांच की जा रही है।

परिवार के लोगों से पूछताछ

सुरेंद्र जाखोदिया, सौरभ बाजपेई के नयागंज में बाग्ला बिल्डिंग स्थित दुकानों के अलावा योग गैलेक्सी, किदवई नगर, मोती विहार स्थित घरों पर भी कार्रवाई जारी है। संजीव झुनझुनवाला के ठिकानों पर भी परिवार के लोगों से भी पूछताछ की।

2000 रुपये के नोट कराए जा रहे थे जमा

टीम को 2000 रुपये जमा करने के भी दस्तावेज मिले है। ये नोट ऐसे लोगों से लिए गए है जिनके पास पैन कार्ड नंबर तक नहीं है। यह भी जांच की जा रही है कि कमीशन लेकर 2000 रुपये के नोट तो नहीं बदले जा रहे थे।

नेता बनकर आवास पहुंचे घर, तुरंत खुल गया गेट

अधिकारी बुलियन के बड़े कारोबारी के सिविल लाइंस स्थित आवास पर प्रांतीय व्यापार मंडल के नेता की नेम प्लेट गाड़ी पर लगा पहुंचे। गाड़ी पर कई माला पड़ी थी। इससे तुरंत गेट खुल गया और टीम आवास के अंदर तक तेजी से चली गई।

फॉर्म-60 को चेक करने के दौरान खुला खेल

सूत्रों के मुताबिक फॉर्म-60 को चेक करने पर सोना व चांदी की खरीद-फरोख्त का खेल सामने आया है। यह माल उनको बेचा गया है जो इनकम टैक्स रिटर्न नहीं फाइल कर रहे थे। यह खेल फर्जी डीलर बनाकर किया गया है। इसमें कारोबारियों के नौकर को डीलर बनाकर दिखाया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button