play-sharp-fill
Uncategorized

PoK पर कमजोर हुई पाकिस्तान की पकड़, तिरंगा लहराया..विलय की मांग तेज..

Advertisement

पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर में लोगों का अपने-अपने अधिकारों को लेकर आंदोलन बढ़ गया है। वहां के नागरिकों ने पाकिस्तान पुलिस और पाकिस्तान प्रशासन के हाथों क्रूरता के खिलाफ विद्रोह कर दिया है। ऐसे मौके पर भारत में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं। और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पीओके पर कब्जे का वादा देश की जनता से कर रही है।

Advertisement

सीएनएन न्यूज-18 ने अपनी एक रिपोर्ट में घटनाक्रम से परिचित अधिकारियों के हवाले से कहा है कि हालिया विरोध प्रदर्शन और उन प्रदर्शनों के हिंसक दमन से संकेत मिलता है कि पाकिस्तान उस क्षेत्र पर अपनी पकड़ खोता जा रहा है। मुजफ्फराबाद और रावलकोट में स्थानीय लोगों की अधिकारियों के साथ हुई झड़प इसकी गवाही दे रही है।

Advertisement

अधिकारियों ने यह भी बताया कि रावलकोट में भारत में विलय की मांग वाले पोस्टर सामने आए हैं। इस दौरान कई जगहों पर पीओके के लोगों को भारत का तिरंगा झंडा थामे भी देखा गया। आपको बता दें कि पाकिस्तान ने दशकों से अवैध रूप से कब्जा कर रखा है।

प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़ने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर के नाराज निवासियों ने पुलिस अधिकारियों का विरोध प्रदर्शन किया है।

एक अधिकारी ने कहा, “पाकिस्तान पीओजेके पर अपनी पकड़ खो रहा है और यह भारत का हिस्सा बनने के करीब पहुंच गया है। पीओजेके में बड़े विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और एक सैन्य खुफिया वाहन को भी प्रदर्शनकारियों द्वारा नष्ट कर दिया है।”

अधिकारियों ने कहा कि विरोध प्रदर्शन दो नाबालिग लड़कियों की मौत के कारण भड़का था। लाठीचार्ज और आंसू गैस के संपर्क में आने से दो लड़कियों की मौत हो गई। दस जिलों में इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया है।

अधिकारी ने कहा, ”इससे कश्मीरियों के साथ पाकिस्तान की खोखली एकजुटता उजागर हो गई है।” उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़ने का आदेश जारी करने के बाद पीओजेके के सहायक आयुक्त की स्थानीय लोगों ने पिटाई कर दी।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button