देश

मणिपुर में भीड़ ने केंद्रीय मंत्री राजकुमार रंजन का घर फूंका….उपद्रवियों ने पेट्रोल बम से लगाई आग

(शशि कोन्हेर) : मणिपुर में हिंसक घटनाएं लगातार जारी हैं। गुरुवार को भीड़ ने विदेश राज्य मंत्री आरके रंजन सिंह के आवास पर हमला किया। मणिपुर सरकार ने बताया कि भीड़ ने गुरुवार देर रात केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री आरके रंजन सिंह के इंफाल के कोंगबा स्थित आवास में आग लगा दी। जिसके बाद केंद्रीय मंत्री ने लोगों से शांति की अपील की।हिंसा में लिप्त लोग अमानवीय- राजकुमार रंजन सिंह

Advertisement

विदेश राज्य मंत्री राजकुमार रंजन सिंह ने बातचीत के दौरान कहा, “मेरे गृह राज्य में जो हो रहा है उसे देखकर बहुत दुख होता है। मैं अब भी शांति की अपील करता रहूंगा। इस तरह की हिंसा में लिप्त लोग बिल्कुल अमानवीय हैं।” उन्होंने कहा, “मैं इस समय आधिकारिक काम के लिए केरल में हूं। शुक्र है कि कल रात मेरे इंफाल स्थित घर में कोई घायल नहीं हुआ। बदमाश पेट्रोल बम लेकर आए थे और मेरे घर के ग्राउंड फ्लोर और पहली मंजिल को नुकसान पहुंचाया गया है।”

Advertisement

अपने घर पर हुए हमले पर विदेश और शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. राजकुमार रंजन सिंह ने कहा, “मैं कोच्ची में हूं और अपने राज्य में नहीं हूं। मैंने बड़ी मेहनत से अपना घर बनाया था। मेरे घर पर हमला होने पर मुझे दुख है और अपने राज्य के नागरिकों द्वारा ऐसे रवैये की अपेक्षा नहीं की थी।” मंत्री ने कहा, “मुझे बताया गया कि घर में आग लगी थी लेकिन लोगों ने दमकल की गाड़ी वहां तक पहुंचने नहीं दी। ऐसा लगता है जैसे यह मेरे जीवन पर हमला है। यह दिखाता है कि मणिपुर में क़ानून-व्यवस्था खत्म हो चुकी है और मौजूदा सरकार शांति व्यवस्था बनाने में विफल रही है। मैंने PM और गृह मंत्री को बता दिया है।”

Advertisement

विदेश राज्य मंत्री राजकुमार रंजन सिंह ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत के दौरान कहा, “मेरे गृह राज्य में जो हो रहा है उसे देखकर बहुत दुख होता है। मैं अब भी शांति की अपील करता रहूंगा। इस तरह की हिंसा में लिप्त लोग बिल्कुल अमानवीय हैं।” उन्होंने कहा, “मैं इस समय आधिकारिक काम के लिए केरल में हूं। शुक्र है कि कल रात मेरे इंफाल स्थित घर में कोई घायल नहीं हुआ। बदमाश पेट्रोल बम लेकर आए थे और मेरे घर के ग्राउंड फ्लोर और पहली मंजिल को नुकसान पहुंचाया गया है।”

Advertisement

वहीं, उपद्रवियों ने न्यू चेकऑन में भी दो घर फूंक दिए, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले छोड़े। इससे पहले 14 जून को इंफाल में अज्ञात लोगों ने मंत्री नेमचा किपजेन के आधिकारिक आवास पर भी आग लगा दी थी।

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button