देश

खराब मशीन से कर रहे थे जांच….बिना पिए ही सबको बता रही थी शराबी

(शशि कोन्हेर) : मुजफ्फरपुर – कहते हैं मशीन झूठ नहीं बोलती, लेकिन शराब पीने की जांच करने वाली उत्पाद विभाग की खराब ब्रेथ एनालाइजर ने इसे झूठा साबित कर दिया। बुधबार की देर रात उत्पाद विभाग की टीम यही खराब ब्रेथ एनालाइजर लेकर शराबियों की जांच करने स्टेशन रोड पहुंची थी। पहले वहां से गुजर रहे 15 लोगों की जांच की गई। मशीन ने सभी के शराब पीने की पुष्टि कर दी। फिर क्या था, टीम ने आनन-फानन में सभी को हिरासत में लेते हुए गाड़ियों पर बैठा लिया।

Advertisement

इधर, सभी को आश्चर्य हो रहा था कि कभी शराब को हाथ तक नहीं लगाया, फिर मशीन कैसे इसकी पुष्टि कर रही है। धराए लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। कोलाहल सुन उधर से गुजर रहे कुछ लोग रुक गए। उन लोगों ने भी विरोध करना शुरू किया।

Advertisement

फिर उन लोगों की ही सलाह पर रेलवे के एक कर्मचारी व एक रिक्शा चालक की भी जांच की गई तो उन दोनों के भी शराब पीने की पुष्टि हुई। इसके बाद उत्पाद विभाग की टीम में शामिल अधिकारियों व जवानों को भी शंका हुई।

Advertisement

उन्होंने सभी का मुंह सूंघा। किसी के मुंह से शराब की दुर्गंध नहीं आ रही थी। वहीं, हिरासत में लिए गए लोगों की मांग पर दूसरी ब्रेथ एनालाइजर मंगाई गई। जब इस मशीन से जांच हुई तो पता चला कि किसी ने भी शराब नहीं पी है। इसके बाद सभी को छोड़ा गया। खराब ब्रेथ एनालाइजर की जांच की रिपोर्ट पर अड़े थे उत्पाद विभाग के अधिकारी शुरू में ब्रेथ एनालाइजर की जांच से मिलने वाली रिपोर्ट पर ही उत्पाद विभाग के अधिकारी अड़े थे। उनका कहना था कि मशीन जो बता रही है, वही सही है। वे यह मानने को तैयार ही नहीं थे कि खराब ब्रेथ एनालाइजर से सभी की जांच की जा रही है। उधर से गुजर रहे अन्य लोगों की जांच में जब शराब पीने की पुष्टि होने लगी तब उन्हें भी शक हुआ।

इधर, वहां मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि मंगलवार की रात भी इसी स्थान से दस लोगों को शराब पीने के आरोप में उत्पाद विभाग की टीम ने दबोच लिया था। आशंका व्यक्त की जा रही है कि इसी खराब ब्रेथ एनालाइजर से सभी की जांच की गई हो। बताया गया है कि उत्पाद विभाग के पास शराब पीने वालों को पकड़ने के लिए 30 ब्रेथ एनालाइजर हैं। खराब मशीन से जांच का मामला सामने आने पर इनकी विश्वनीयता पर सवाल उठने लगे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button