play-sharp-fill
बिलासपुर

तीन बेटियों की मौत पर भी न्यायधानी मे खामोशी !! बेहद अफसोसनक :पटेल…..शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष का अवैध उत्खनन मे खनिज अधिकारियों की संलिप्तता का आरोप

Advertisement

Advertisement

(दिलीप जगवानी के साथ जयेन्द्र गोले) : बिलासपुर – अरपा नदी मे डूबने से तीन छात्राओं की मौत से शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष और मरार पटेल समाज के राम कुमार पटेल काफी आहत हुए है. इस हृदयविदारक घटना के लिए उन्होंने खानिज माफिया और अधिकारियों को दोषी बताया हैं. पूरे घटनाक्रम मे गायब रहने वाले पार्टी नेताओं पर भी वे नाराज दिखे.

Advertisement


लोक स्वर टीवी से बातचीत में शाकंभरी बोर्ड के अध्यक्ष रामकुमार पटेल ने बताया सेंदरी मे गमगीन माहौल है बच्चियों के अंतिम संस्कार से वे लौटे हैं स्थानीय लोगों ने उन्हें बताया हैं कि अरपा नदी मे बेतहाशा खुदाई करने से पानी से भरे गहरे गड्ढे मे डूबने से तीनों ल़डकियों की मौत हुई है. इस घटना पर पार्टी नेताओं की चुप्पी पर बोर्ड के अध्यक्ष राम कुमार पटेल ने नाराजगी जाहिर की और कहा गमजदा परिवार के साथ कोई खड़ा नहीं हुआ. उन्हें इसका बेहद अफसोस है ऐसी घटना किसी और के साथ भी हो सकती है.

रामकुमार पटेल, अध्यक्ष शाकम्भरी बोर्ड, छग



खनिज अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा घटना के लिए दोषियों पर कार्यवाई होना चाहिए. अफसोस है न्यायधानी इस तरह की दुखद घटना हुई है.रेत का अवैध उत्खनन करने की शिकायत के बाद भी खनिज विभाग ने इसे रोकने की कोशिश नहीं की. जिससे सेन्दरी निवासी मरार पटेल समाज को गहरा आघात पहुंचा है. घटना के बाद कलेक्टर सौरभ कुमार की तत्परता और प्रभावित परिजनों को आपदा राहत दिलाने के प्रयास पर श्री पटेल ने संतुष्टि जताया है.

रामकुमार पटेल, अध्यक्ष शाकम्भरी बोर्ड, छग


य़ह सच है कि तीन बेटियों की दुर्घटना मे हुई मौत पर बिलासपुर का सीना नहीं फटा सभी अच्छी तरह समझते हैं कि घटना का जिम्मेदार कौन है. अरपा नदी को दिन रात दुहने वाले कोई और नहीं स्थानीय है जिन्हें खानिज विभाग के अधिकारियों का साथ मिला है.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button