देश

महाराष्ट्र के राहुल गांधी बन गए हैं संजय राउत, 2000 करोड़ वाले आरोपों पर बिफरी BJP

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : उद्धव ठाकरे गुट से शिवसेना नाम और चुनाव निशान छिनने के बाद सियासी घमासान तेज हो गया है। भाजपा ने शिवसेना पर हमला बोलते हुए उसे हताश बताया है। भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने वीडियो जारी कर कहा कि संजय राउत अब महाराष्ट्र के राहुल गांधी हो गए हैं और उद्धव सेना को उन्होंने कांग्रेस के स्टाइल में खत्म कर दिया है।

Advertisement

जब चुनाव आयोग जैसी संस्थाएं उनके हक में फैसला नहीं देतीं तो बाबा साहेब आंबेडकर समेत विभिन्न संवैधानिक संस्थाओं का अपमान करने लगते हैं। यह बेहद शर्मनाक है। भाजपा प्रवक्ता ने आगे कहा कि चुनाव चिन्ह चले जाने पर राजनीतिक हताशा को छिपाना है, परिवार को बचाना है, इसलिए इलेक्शन कमीशन पर निशाना है। उन्होंने आगे कहा कि संजय राउत का जो इलेक्शन कमीशन को लेकर आरोप है वह अनर्गल और हास्यास्पद है। 

Advertisement

नहीं बची है राजनीतिक विश्वसनीयता
शहजाद पूनावाला ने आगे कहा कि संजय राउत को और उनकी सेना मंडली को महाराष्ट्र में कोई भी गंभीरता से नहीं लेता है। उनका कोई राजनीतिक वर्चस्व भी नहीं बचा है और उसकी कोई राजनीतिक विश्वसनीयता भी नहीं बची है। इसलिए इस तरह के बयान दिए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने जो निर्णय दिया है, वह पुराने निर्णयों पर आधारित है। यदि आपको आदेश पसंद नहीं है तो आप कोर्ट में अपील कर सकते हैं । लेकिन आपको आदेश पसंद नहीं तो संविधान पर, बाबा साहेब आंबेडकर पर और संवैधानिक संस्थाओं पर सवाल खड़े कर देना यह बिल्कुल राहुल गांधी और कांग्रेस की फितरत दिखा रही है।

राहुल गांधी की भाषा बोल रहे संजय राउत
शहजाद पूनावाला ने आगे कहा कि उद्धव की सेना राहुल गांधी के उनके निकट रहते-रहते उनके जैसा ही बर्ताव करने लगी है। उन्होंने कहा कि संजय राउत आज राहुल गांधी की भाषा बोलने लगे हैं। जब वो चुनाव हारते हैं तो इलेक्शन कमीशन पर सवाल खड़े करते हैं, केस हारते हैं तो सुप्रीम कोर्ट पर सवाल खड़े करते हैं।

आर्मी से लेकर बाकी संस्थाओं पर सवाल खड़े कर देते हैं। जब कोई केस या चुनाव उनके पक्ष में आ जाए तो वह संस्थाएं ठीक हो जाती हैं। पूनावाला ने कहा कि उद्धव गुट के इसी रवैये का नतीजा है कि आज न केवल चुनाव चिन्ह चला गया बल्कि हिंदुत्व की विचारधारा चली गई। बालासाहेब ठाकरे जी की विचारधारा चली गई
और संविधान के प्रति आस्था भी चली गई।

उद्धव गुट है हमलावर
गौरतलब है कि शिवसेना नाम और धनुष-बाण निशान गंवाने के बाद से उद्धव गुट लगातार हमलावर है। उद्धव गुट न सिर्फ चुनाव आयोग, बल्कि प्रधानमंत्री और भाजपा को भी निशाने पर ले रही है। इसी सिलसिले में ट्वीट करते हुए संजय राउत ने लिखा था कि मुझे यकीन है, चुनाव चिन्ह और नाम हासिल करने के लिए अब तक 2000 करोड़ के सौदे और लेन-देन हो चुके हैं। उन्होंने आगे लिखा कि यह प्रारंभिक आंकड़ा है और 100 फीसदी सच है। जल्द ही कई बातों का खुलासा होगा। देश के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ था।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button