play-sharp-fill
बिलासपुर

ऑक्सीजन मैन सूर्यकांत रजक होंगे सम्मानित, दूर दराज के गांव तक पहुंचाया ऑक्सीजन सेलेंडर सैकड़ों की बचाई जान

Advertisement

(विजय दानिकर) : बिलासपुर/रतनपुर – बेहतर सेवा और कुशल कार्य के लिए स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर जिले के अधिकारी- कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा। कोरोना काल में कोविड केयर सेंटर में विशेष योगदान के साथ ही क्ष्रेत्र में जरूरतमंदों की सेवा करने पर रतनपुर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के वाटर मेन सूर्यकांत रजक को न्यायाधानी बिलासपुर के पुलिस ग्राउड में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के द्बारा सम्मानित किया जाएगा।

Advertisement

रतनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत सूर्यकांत रजक को लोग ऑक्सीजन मेन के नाम से भी जानते है। कोरोना संक्रमण की पहली लहर के समय जब लोग संक्रमण और संक्रमितों के करीब तक जाने से डरते थ्ो तो सूर्यकांत ऐसे जरूरतमंद मरीजों के पास ऑक्सीजन की टंकी लेकर पहंुच जाते है। अस्पताल में बिस्तरों की तंगी थी तो सूर्यकांत अपनी देखरेख में उन्हें घर में ही ऑक्सीजन लगाते और विशेषज्ञ डॉक्टर से फोन और विडियो कॉलिंग के माध्यम से कंसल्ट कर उन्हे दवा उपलब्ध कराते थे। दूसरी लहर में भी सैकड़ों लोगों को ऑक्सीजन सेलेंडर उपलब्ध कराकर उनकी जान बचाई।

Advertisement

-० जहां सुविधा नही वहाँ भी ऑक्सीजन लेकर पहुंचे सूर्यकांत

सूर्यकांत खुद के वेतन से ऑक्सीजन सेलेंडर बिलासपुर आकर भरवाते थे। इसके बदले उन्होने आज तक किसी मरीज से पैसा नहीं लिया। जब कर्फ्यू लगा था और लोग अपने घरों से निकलने से डरते थे तो सून-सान सड़क में ऑक्सीजन एक्टिवा में रखे सूर्यकांत रजक नजर आ जाते थे। रतनपुर के अलावा आस पास के 10 से 15 गांवों जहां स्वास्थ्य सेवा पहुंचने में नाकाम रही वहां भी सुर्यकांत ऑक्सीजन लेकर पहुंचे उनके इसी काम की सराहना करते हुए शासन ने उन्हें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सम्मानित कर रही है।

सूर्यकांत ने बताया कि बहन को ऑक्सीजन की समस्या हुई तो मदद के लिए यहां वहां भटकना पड़ा। ऐसे में उनके पास एक ऑक्सीजन की टंकी थी। इसी से उन्होने कोरोना काल में लोगों तक ऑक्सीजन पहुंचाने की शुरूवात की फिर अपने वेतन से कुछ और टंकी खरीदे। इसके बाद लोगों की मदद का जज्बा देख जिन लोगों को सूर्यकांत मदद पहुंचाता वे उन्हें पैसा देने की कोशिक करते लेकिन सूर्यकांत ने किसी से पैसा नहीं लिया। ऐसे में लोग पैसे के बदले ऑक्सीजन की टंकी खरीदकर देने लगे अब सूर्यकांत के पास 26 ऑक्सीजन टंकी हो गई है। जिससे वे जरूरतमंदों की मदद करते है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button