play-sharp-fill
देश

गुर्गा, बाहुबली, माफिया और डॉन न लिखा जाए मेरे नाम के आगे मुख्‍तार अंसारी ने कोर्ट से लगाई गुहार

Advertisement

यूपी की बांदा जेल में बंद मुख्‍तार अंसारी ने बाराबंकी में स्‍पेशल सेशन जज की अदालत में गुहार लगाई है कि उसके नाम के आगे गुर्गा, बाहुबली, माफिया और डॉन जैसे विशेषण न लगाए जाएं। उसने पुलिस और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर ऐसे विशेषणों के जरिए बदनाम करने का आरोप लगाया है।

Advertisement

मुख्‍तार ने अदालत में देश की स्‍वतंत्रता के संग्राम में अपने परिवार की भूमिका का वास्‍ता देते हुए अपने वकील के जरिए कोर्ट में अर्जी देकर यह गुहार लगाई है। एंबुलेंस कांड और गैंगस्‍टर एक्‍ट के तहत बुधवार को मुख्‍तार की जेल से अदालत में वर्चुअल पेशी हुई थी। 

Advertisement

मुख्‍तार की अर्जी में लिखा है कि पुलिस के कुछ मौजूदा और सेवानिवृत हो चुके अधिकारी मीडिया के जरिए उसके खिलाफ दुष्‍प्रचार कर रहे हैं। मुख्‍तार ने यह भी कहा है कि मुकदमों में चार्जशीट दाखिल हो जाने जाने के बाद अदालत में विवेचना जारी है।

उधर, गैंगस्‍टर एक्‍ट का दुरुपयोग कर मेरे साथियों पर गलत कार्रवाई की जा रही है। अंसारी ने पुलिस अधिकारियों ओर राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों पर मीडिया ट्रायल के जरिए दुष्‍प्रचार करने का आरोप लगाया। 

मुख्‍तार की अर्जी में लिखा है कि कई लोग मेरे लिए माफिया डॉन, बाहुबली, गुर्गा आदि अपशब्‍दों का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। यह मेरे खिलाफ दुष्‍प्रचार है। मैं कई बार विधायक रहा हूं। मेरे परिवार की देश के स्‍वतंत्रता संग्राम में महत्‍वपूर्ण भूमिका रही है। मुख्‍तार का दावा है कि जब उसे चुनाव में नहीं हराया जा सका तो राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने साजिश करके राजनीतिक करियर खराब करने की कोशिश शुरू कर दी।

यह अर्जी मुख्‍तार के वकील रणधीर सिंह सुमन ने बुधवार को अदालत में लगाई। इस पर विशेष सत्र न्‍यायाधीश कमल कांत श्रीवास्‍तव ने सुनवाई के लिए 10 मई की तारीख मुकर्रर की है। मुख्‍तार के वकील ने कहा अर्जी के बारे में बताते हुए कहा कि इसमें हेट स्‍पीच और मुख्‍तार अंसारी के नाम के आगे गलत शब्‍दों का इस्‍तेमाल रोकने की मांग की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button