छत्तीसगढ़

सरकारी स्कूल का टीचर बच्चों से कराता था मसाज, शिकायत के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने लिया ये ऐक्शन 

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : मां-बाप बहुत ही भरोसे के साथ अपने बच्चों को स्कूल भेजते हैं। उन्हें यह यकीन होता है कि स्कूल के टीचर उनके बच्चों को अच्छी-अच्छी बातें पढ़ाएंगे, उनके मन और बुद्धि का विकास करेंगे। लेकिन जरा सोचिए…

Advertisement

अगर किसी मां-बाप को यह पता चले कि उनके बच्चों से कोई टीचर मसाज कराता है और अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें मारने-पीटने की धमकी देता है। तब पेरेंट्स को कैसा लगेगा? जी हां, ऐसी ही एक खबर छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले से आई है।

Advertisement

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि स्कूल के बच्चों से जबरन मालिश कराया जाता था। उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर किया जाता था। बच्चों से मसाज उन्हीं के स्कूल में पढ़ाने वाला एक टीचर करवाता था। आरोपी टीचर को सस्पेंड कर दिया गया है।

जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) संजय गुप्ता ने बताया कि सेंद्रीमुंडा गांव के एक प्राथमिक विद्यालय में सहायक शिक्षक के रूप में तैनात आरोपी को गुरुवार को निलंबित कर दिया गया। कुछ छात्रों के परिजनों ने आरोप लगाया था कि वह बच्चों से अपनी मालिश करने को कहता था और मना करने पर उनकी पिटाई करता था।

डीईओ संजय गुप्ता ने आगे बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है। संबंधित क्लस्टर शैक्षिक समन्वयक को भी नोटिस दिया गया है और आगे की जांच चल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button