देश

कुत्ते के “बर्थडे” आयोजन पर जमकर, डांस और आर्केस्ट्रा.. 7 लाख रुपए हुए खर्च…!

Advertisement

कोरोना संकट के बीच गुजरात में एक कुत्ते के जन्मदिन पर बड़ी पार्टी का आयोजन किया गया. उस पार्टी पर लगभग सात लाख रुपये खर्च कर दिए गए. वहां आए लोगों ने ना मास्क पहन रखा था और ना ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन था.

Advertisement

देश में कोरोना की तीसरी लहर तबाही दिखाने लगी है. रोज के एक लाख मामले सामने आ रहे हैं. गुजरात में भी कोरोना का विस्फोट हुआ है और रोज नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. लेकिन इस सब के बावजूद भी लोग बेतहाशा लापरवाही बरत रहे हैं. ताजा मामला अहमदाबाद के निकोल इलाक़े का है जहां पर एक कुत्ते के जन्मदिन पर बड़ी पार्टी का आयोजन किया गया. उस पार्टी में कई मेहमानों को बुलावा दिया गया, सिंगर भी आईं लेकिन किसी ने भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया.

Advertisement

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहीं तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि लोग जश्न में ऐसा मस्त हो चुके हैं कि उनमें कोरोना का कोई खतरा नहीं दिख रहा. सिंगर गाना रहा ही हैं, लोग गरबा खेल रहे हैं और पार्टी का पूरा माहौल बना रखा है. लेकिन जितनी भी तस्वीर सामने आई हैं, सभी सिर्फ लापरवाही की कहानी बयां कर रही हैं. तस्वीरों के अलावा कुछ वीडियो भी ट्रेंड कर गए हैं. उन वीडियो में आर्केस्ट्रा वाले दिखाई पड़ रहे हैं, उनकी पूरी टीम भी बिना मास्क के पार्टी एन्जॉय कर रही है. वहीं स्टेज से थोड़ी दूर कई सारे लोग गरबा खेल रहे हैं.

बताया गया है कि इस पार्टी के आयोजन में सात लाख रुपये खर्च कर दिए गए. मेहमान ज्यादा रहे, ऐसे में आयोजक ने बकायदा एक पूरा प्लॉट किराए पर ले लिया और वहां पर जमकर पार्टी की गई. अब क्योंकि इस जश्न के हर वीडियो वायरल हो गए हैं, ऐसे में पुलिस भी हरकत में आ गई है. कहा जा रहा है कि विस्तृत जांच के बाद कोई एक्शन लिया जा सकता है.

जानकारी के लिए बता दें कि शहर में अभी एपेडेमिक एक्ट लागू है, रात के कर्फ्यू को भी एक घंटा बढ़ा दिया गया है. ऐसे में इन कार्यक्रमों पर पाबंदियां चल रही हैं. शादी समारोह में भी मेहमानों की संख्या 400 कर दी गई है. जैसे-जैसे मामले बढ़ रहे हैं, ये पाबंदियां भी और सख्त हो सकती हैं.

वैसे खतरे की घंटी सिर्फ गुजरात में नहीं बजी है. एक फिर इस रेस में सबसे आगे महाराष्ट्र चल रहा है. वहां रोज नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. लेकिन इस खतरे के बीच भी लोग लापरवाही की हदें पार कर रहे हैं. शहापूर इलाके में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला जब एक भैंस का जन्मदिन धूमधाम से मनाया गया. पूरे गांव को रामू (भैंस का नाम) के बर्थडे पर बुलाया गया और जमकर पार्टी की गई. भैंस के मालिक ने तर्क दिया कि उसके परिवार के लिए रामू खास है. उसने कई लड़ाई की प्रतियोगिता जीती हैं. ऐसे में उसने अपने भैंस का पूरे गांव में जुलूस निकाला और खूब पार्टी की.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button