बिलासपुर

वर्तमान में किसी भी रेत घाट का ठेका नहीं है.. अवैध रेत उत्खनन करने वालों के खिलाफ आम जनता सामने आए – महेश दुबे (टाटा) सदस्य अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर। अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण के सदस्य श्री महेश दुबे (टाटा महाराज) ने कहा है कि जिले की लछनपुर, अमलडीहा, उदईबंद को प्राइवेट ठेकेदार तथा अनुसूचित क्षेत्र के अंतर्गत कोन्चरा,सोढाखुर्द, छतौना और करही कछार को पर्यावरण क्लीयरेंस नहीं होने के कारण कानूनी रूप से यह खदाने बंद है। इसी तरह वर्तमान में सेंदरी, दोमुहानी,कछार,निरतू, लोफंदी, घूटकू, मंगला और नगर निगम क्षेत्र में रेत उत्खनन पर पूर्णता प्रतिबंध लगा हुआ है। श्री महेश दुबे ने कहा है कि इस प्रतिबंध के बावजूद इन सभी खदानों से दिन रात अवैध उत्खनन किया जा रहा है जो गैरकानूनी है।

Advertisement

अरपा बेसिन विकास प्राधिकरण के सदस्य श्री महेश दुबे ने कहा है कि लगातार शिकायतों के बाद भी जीवनदायिनी मां अरपा के सीने को अवैध रूप से चीर कर पहुंच पहचान और गुंडागर्दी के दम पर रेत का अवैध कारोबार किया जा रहा है। श्री महेश दुबे ने कहा है कि पहुंच पहचान और गुंडागर्दी के दम पर यह बेखौफ कारोबार करने वाले लोगों को चंद रुपयों के लालच में कानून की धज्जियां उड़ाने से भी परहेज नहीं है।

Advertisement

श्री दुबे ने आम जनता से अपील की है कि प्रशासन को संज्ञान में लाना हमारी अपनी जवाबदेही है। इसलिए जहां भी लोग अवैध रेत उत्खनन करते दिखाई दे वहां सामूहिक रूप से आम जनता इकट्ठा होकर उसका विरोध करें। श्री दुबे ने कहा है कि वर्तमान में किसी भी घाट का ठेका नहीं है। और ये लोग रेत की चोरी नहीं वरन डकैती कर रहे हैं। श्री दुबे ने कहा कि प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने के लिए फेसबुक टि्वटर व्हाट्सएप और पत्र व्यवहार का प्रयोग कर अरपा नदी को बचाने की नई मुहिम की शुरुआत करें। या हमारा दायित्व है आइए हम सब एक कदम बढ़ा कर इस काम में जुट जाएं। श्री दुबे ने कहा… उन्हें विश्वास है की यह मुहिम एक दिन जरूर रंग लाएगी।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button