छत्तीसगढ़बिलासपुर

ब्रह्मलीन शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती, सूक्ष्म शरीर से हिंदू धर्म और संस्कृति के मार्ग को करेंगे रौशन, 22 को ब्राह्मण भोज और 23 को भंडारा…..

(दिलीप जगवानी) : बिलासपुर – ब्राम्हलीन शंकराचार्य स्वरुपानंद सरस्वती महाराज को श्रद्धांजलि देने सभा का आयोजन खाटू श्याम मंदिर परिसर स्थित भवन में किया गया.  स्वरूपानंद के अनुयायी और नगर के प्रतिष्ठित जन श्रद्धांजलि देने बडी संख्या में पहुंचे थे.

Advertisement

घोंघा बाबा मंदिर परिसर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में विशिष्ट जनों ने अपनी संवेदनाएं प्रकट की सभी ने कहा जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद जी का विशेष लगाव होने से बिलासपुर में उनके अनुयायी को उनके ब्राम्हलीन होने से गहरा दुख हुआ है. सनातन हिंदू धर्म और संस्कृति के ध्वजवाहक स्वामी स्वरूपानंद के बताये मार्ग पर चलकर हिंदू धर्म की रक्षा और मानव कल्याण के कार्य करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी. श्री राम मंदिर बलखंडी बाबा ट्रस्ट जय श्री श्याम मंदिर ट्रस्ट और कृष्ण गौशाला के अध्यक्ष मंगत राय अग्रवाल सभी न्यासी आजीवन सदस्यों के आग्रह पर श्रद्धांजलि सभा में बिलासपुर सांसद अरुण साब अटल बिहारी वाजपेई विश्वविद्यालय के कुलपति एडीएन बाजपेई पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल बिल्हा विधायक धर्म लाल कौशिक लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह संस्कृत विदुषी पुष्पा दिक्षित शामिल हुई.

Advertisement

जानकारों ने कहा ज्योतिष पीठाधीश्वर एवं द्वारका शारदापीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद देश की आजादी के लिए लड़ाई फिर भारत को हिन्दुत्व राष्ट्र का वैभव दिलाने उन्होंने अथक और सफ़ल आयाम स्थापित किए. उनकी शिक्षा का प्रकाश आगे हमरा मार्ग दर्शन करता रहेगा.

Advertisement

श्रद्धांजलि सभा के आयोजक मंगत राय अग्रवाल ने कहा ब्रह्मलीन स्वामी स्वरूपानंद जी का विशेष आशीर्वाद उनके परिवार को प्राप्त हुआ चार पीढ़ियां उनसे दिक्षित हुई उनकी याद में ब्राह्मण भोज और भंडारा का आयोजन मंदिर परिसर में किया जाएगा.

श्रद्धांजलि सभा में शामिल सभी ने पुष्प अर्पित कर ब्रह्मलीन जगतगुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद को हृदय से श्रद्धांजलि दी।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button