देश

बोर्ड परीक्षाएं साल में दो बार, 11वीं और 12वीं के छात्रों को पढ़नी होंगी दो भाषाएं, नए पाठ्यक्रम का हुआ खाका तैयार

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : शिक्षा मंत्रालय साल 2024 से पाठ्यक्रम में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। शिक्षा मंत्रालय ने बताया कि नई शिक्षा नीति (NEP) के अनुसार, नए पाठ्यक्रम का खाका तैयार कर लिया गया है। साल 2024 के शैक्षणिक सत्र के लिए पाठ्य पुस्तकें तैयार की जाएंगी।

Advertisement

शिक्षा मंत्रालय ने बताया कि नए पाठ्यक्रम के खाके के तहत कक्षा 11 और 12 के छात्र-छात्राओं को दो भाषाओं का अध्ययन करना होगा, इनमें से कम से कम एक भाषा भारतीय होनी चाहिए।

Advertisement

साल में दो बार होंगी बोर्ड परीक्षाएं
शिक्षा मंत्रालय के अनुसार, नए पाठ्यक्रम ढांचे के तहत बोर्ड परीक्षाएं साल में दो बार होंगी। छात्र-छात्राओं को सर्वश्रेष्ठ अंक बरकरार रखने की इजाजत होगी।

शिक्षा मंत्रालय के नए पाठ्यक्रम ढांचे के तहत बोर्ड परीक्षाएं महीनों की कोचिंग और रट्टा लगाने की क्षमता के मुकाबले छात्र-छात्राओं की समझ और दक्षता के स्तर का मूल्यांकन करेंगी।

विषयों का चयन स्ट्रीम तक सीमित नहीं होगा
मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, नए पाठ्यक्रम ढांचे के तहत कक्षा 11 और 12 में विषयों का चयन ‘स्ट्रीम’ तक सीमित नहीं रहेगा, छात्र-छात्राओं को पसंद का विषय चुनने की आजादी मिलेगी।

कक्षाओं में पाठ्य पुस्तकों को ‘कवर’ करने की मौजूदा प्रथा से बचा जाएगा, पाठ्य पुस्तकों की कीमतों में कमी लाई जाएगी। स्कूल बोर्ड उचित समय में ‘मांग के अनुसार’ परीक्षा की पेशकश करने की क्षमता विकसित करेंगे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button