देश

उत्साह और उमंग के साथ खेली गई, विश्व प्रसिद्ध बरसाना की लट्ठमार होली…..आप भी ये VIDEO देखकर ले आनंद

Advertisement

Advertisement

Advertisement

मथुरा – विश्व प्रसिद्ध बरसाना की लट्ठमार होली बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ खेली गई। राधारानी रूपी गोपियों ने नंदगांव के कृष्ण रूपी हुरियारों पर जमकर लाठियां बरसाईं। हंसी-ठिठोली, गाली, अबीर, गुलाल और लाठियों से खेली गई इस होली का आनंद देश-विदेश से कोने-कोने से आएं श्रद्धांलुओं ने भी लिया।

वीडियो साभार – प्रकाश देबनाथ (बिलासपुर)

वहीं होली के गीत गाते नंदगांव के कृषण रूपी हुरियारे बरसाना में राधा रूपी गोपियों के साथ होली खेलने आए। बता दें कि हजारों बरसों से चली आ रही इस परंपरा के तहत नंदगांव के हुरियारे पिली पोखर पर आते हैं, जहां उनका स्वागत बरसाना के लोग ठंडाई और भांग से करते हैं। यहां से ये हुरियारे रंगीली गली पहुंचते हैं, जहां बरसाना की हुरियारिनों को होली के गीत गा कर रिझाते हैं।


वहीं होली के गीत और गलियों के बाद नाच गाना होता है और फिर लट्ठमार होली खेली जाती है। इस लट्ठमार होली में बरसाना की हुरियारिनें नन्दगांव के हुरियारों पर लाठियों की बरसात करती हैं।

वहीं नन्दगांव के हुरियारे बरसाना की हुरियारिनों की लाठियों से अपना बचाव ढाल से करते हैं। इस होली को खेलने के लिए नन्दगांव से बूढ़े, जवान और बच्चे भी आते हैं। यहां सभी लोग राधा-कृष्ण के प्रेम रूपी भाव से होली खेलते हैं। द्वापर युग से ही चली आ रही इस परम्परा के अनुसार राधा रूपी बरसाने की हुरियारिनें कृष्ण रूपी नंदगांव के हुरियारों पर प्रेम भाव से लाठियां बरसाती हैं। इससे बचने के लिए हुरियारे अपने साथ लाई ढाल का प्रयोग करते हैं।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button