बिलासपुर

कलेक्टर ने ली समय-सीमा की बैठक- बेरोजगारी भत्ता योजना की तैयारियों की समीक्षा के साथ तेजी से आयुष्यमान कार्ड बनाने के दिए निर्देश

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर, 29 मार्च /कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ने आज जिला कार्यालय के मंथन सभा कक्ष में समय-सीमा की बैठक ली। कलेक्टर ने बैठक में सभी अधिकारियों से कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा विधानसभा में बेरोजगारी भत्ता योजना और छत्तीसगढ़ सामाजिक एवं आर्थिक सर्वेक्षण-2023 की घोषणा की गई है, जो 01 अप्रैल से शुरू होगी। कलेक्टर ने कहा कि इन योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि उक्त कार्यों के लिए पर्याप्त मानव संसाधन के साथ सभी आवश्यक व्यवस्था पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

Advertisement


कलेक्टर ने बैठक में कहा कि छत्तीसगढ़ सामाजिक एवं आर्थिक सर्वेक्षण के लिए ऐसे प्रगणकों का चयन करें, जो इस कार्य को जिम्मेदारीपूर्वक कर सके और उन्हें आवश्यक प्रशिक्षण भी दें। इस सर्वेक्षण में शासन की योजनाओं के फीडबैक के साथ आवास एवं शौचालय की जानकारी प्रमुखता से ली जाएगी। जिसके कच्चे मकान होंगे, उन्हें पक्का आवास बनाकर दिया जाएगा और जहां शौचालय नहीं हैं, वहां शौचालय बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सर्वेक्षण के दौरान इस बात का ध्यान रखें कि कोई भी जरूरतमंद हितग्राही छूटने न पाए।

Advertisement

कलेक्टर ने जिले में रीपा के अंतर्गत हो रहे कार्यों, गौठान शेड निर्माण कार्य, नियमतीकरण, सुपोषण योजना, वन अधिकार पट्टे, स्कूलों में हो रहे मरम्मत कार्यों की जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने आत्मानंद स्कूलों के निर्माण कार्यों की प्रगति की जानकारी ली।

कलेक्टर ने जिले में आयुष्मान कार्ड पर्याप्त संख्या में नहीं बनने पर नाराजगी जताते हुए प्रतिदिन अधिक से अधिक आयुष्मान कार्य बनाने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर ने प्रत्येक ब्लाक में एक गांव का चयन कर आदर्श ग्राम के रूप में विकसित करने की जानकारी देते हुए इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम श्री आर.ए. कुरूवंशी एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button