बिलासपुर

जबरन घर में घुसकर छेड़छाड़ के आरोपी…24 घंटे के भीतर हुए गिरफ्तार, कोनी पुलिस का मामला

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर – कोनी थाना थाने में दर्ज हुआ यह मामला 11 सितंबर की रात का है। प्रार्थी या के द्वारा लिखाई गई रिपोर्ट के मुताबिक उस दिन वह घर में रात को अपनी देवरानी के साथ सो रही थी। रात में करीब 11:30 बजे खिड़की तोड़कर सुमंत लोनिया और संतोष लोनिया दोनों ही महिलाओं को घर के बाहर बुला रहे थे। जब माजरा जानने के लिए उन्होंने दरवाजा खोला तो सुमंत लोनिया और संतोष लोनिया घर के अंदर घुस गए और शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहने लगे। जब प्रार्थी आने इससे इनकार किया तो सुमन तिलोनिया हाथ से प्रार्थी या को थप्पड़ मारने लगा। उसी समय संतोष लोनिया भी आ गया और गाली गलौज करते हुए प्रार्थी या पर लिपट गया तथा हाथ से मारपीट करने लगा। इस रिपोर्ट पर पुलिस ने धारा 456 354 354 क और धारा 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर उसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी।

Advertisement

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारुल माथुर के द्वारा आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का आदेश दिया गया। इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री राजेंद्र कुमार जायसवाल और नगर पुलिस अधीक्षक श्रीमती स्नेहिल साहू के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सुखनंदन पटेल के नेतृत्व में सोनी पुलिस की टीम ने ग्राम स्टेशन पारा घूटकू में दबिश देकर थाने में रिपोर्ट करने के 24 घंटे के भीतर घेराबंदी कर आरोपी सुमंत लोनिया और संतोष लोनिया को पकड़कर थाने लाया गया। यहां उन्होंने अपना अपराध स्वीकार कर लिया। जुर्म स्वीकार करने पर उन्हें विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में निरीक्षक सुखनंदन पटेल, सहायक उपनिरीक्षक संतोष पात्रे, प्रधान आरक्षक विष्णु साहू, सहायक निरीक्षक शत्रुघ्न लहरे, आरक्षक शैलेंद्र साहू बजरंग कौशिक और सतीश भाई की भूमिका उल्लेखनीय रही।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button