गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाहीछत्तीसगढ़

जिला मुख्यालय मध्य में बनाने की मांग को लेकर, सर्व दलीय समिति के द्वारा मरवाही बंद करने का फैसला

Advertisement

(उजव्वल तिवारी) : पेंड्रा। जिला मुख्यालय को मध्य क्षेत्र में बनाए जाने को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं। जहां क्षेत्र के लोग ज्ञापन देकर मांग कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी ओर चाहे आदिवासी समाज हो चाहे सरपंच संघ हो या फिर अन्य कोई संगठन हो सभी बैठक कर जिला कार्यालय मध्य क्षेत्र में बनाए जाने की मांग कर रहे हैं।

Advertisement

इसी तरह से जिला कार्यालय को मध्य क्षेत्र में बनाए जाने को लेकर सर्वदलीय समिति मरवाही की बैठक शनिवार को पुराना बस स्टैंड स्थित दुर्गा पंडाल के प्रांगढ़ में आयोजित की गई। जिसमे इस बैठक में सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि जिला गौरेला, पेंड्रा, मरवाही का जिला मुख्यालय मध्य में बनाया जावे। वहीं इसी मांग को लेकर 11 अगस्त 2023 शुक्रवार को मरवाही एवं दानीकुंडी बाजार बंद रखकर विरोध किया जाएगा।

Advertisement

वहीं समिति के जमुना जायसवाल, सुनील गुप्ता,आयुष मिश्रा,पहलवान सिंह मराबी पूर्व विधायक, गजरूप सिंह,दयाराम पाव, राकेश मसीह ने जानकारी देते हुए कहा कि जिला प्रशासन के द्वारा किस आधार पर स्थल का चयन किया गया है।

उस प्रक्रिया को आम जन मानस के बीच सार्वजनिक किया जावे। साथ ही मरवाही, पेंड्रा,गौ रेला तीनो विकास खंड के मध्य में जिला मुख्यालय बनाये जाने पर आदिवासी विकास खंड मरवाही के सुदूर अंचल के ग्रामीण साईकल से भी जिला मुख्यालय पहुँच सकता है। वहीं प्रशासन के द्वारा इस बात की अनदेखी की गई है एवं मरवाही विधानसभा क्षेत्र की घोर उपेक्षा की गई है। इस जिल्रे मे मरवाही विधानसभा क्षेत्र का ज्यादा हिस्सा आता है।

इन पहलुओ को दरकिनार करते हुए जिला मुख्यालय गुरुकुल में बनाया जा रहा है। जो पहले से ही शिक्षा एवं स्वास्थ्य की गतिविधियों के लिए आरक्षित है। वहीं मरवाही के नाम से वन मंडल, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य एवं ग्रामीण यांत्रिकी, अपर कलेक्टर एवं अन्य कार्यालय मरवाही में खोला जाए। पहले अपर कलेक्टर का कार्यालय मरवाही में खुलता था।

वह भी वर्षो से बंद है। वहीं सर्वदलीय समिति ने निर्णय लिया है कि जिला मुख्यालय मध्य में बनाने की मांग को लेकर जनप्रतिधियों एवं ग्राम पंचायतों के सरपंचो से संपर्क कर पूरा विधानसभा क्षेत्र को बंद कराया जावे। साथ ही इसके अलावा अगर जिला कार्यालय एवं कम्पोजिट बिल्डिंग मध्य क्षेत्र में नहीं बनाया जाता है तो इसका खामियाजा कहीं ना कहीं राजनीतिक दलों को भुगतना पड़ सकता है। और इसका नुकसान भी आने वाले चुनाव में भी हो सकता है।

इस हेतु सर्वदलीय समिति विधानसभा के ग्रामो का दौरा भी करेगी। वहीं कलेक्टर से निवेदन है कि मरवाही विकास खंड एवं विधानसभा क्षेत्र की घोर उपेक्षा को देखते हुए सार्थक पहल करते हुए आगे की कार्यवाही करने की कृपा करे।  वहीं इस बैठक में प्रमुख रूप से ओंकार ओट्टी,चैन सिंह सरौता, हिमांशु सोनी, ध्यान सिंह, सुनील गुप्ता, लाल चंद गुप्ता, गोविंद गुप्ता, श्याम दुबे, डॉ शिवप्रताप राय, वीरेंद्र गुप्ता उपस्थित रहे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button