मुंगेली

मुंगेली जिले का गौरव है, महिला कामांडो…..

Advertisement

(मोहम्मद अलीम) : मुंगेली – जिले मे बढ़ रहे सामाजिक बुराई के विरोध में और नारी शक्ति के सम्मान में पुलिस विभाग के सहयोग से फरवरी 2018 में 40 महिलाओं से महिला संगठन का गठन किया गया । महिला संगठन आज पूरे जिले में सक्रिय रुप से कार्य करते नजर आ रहा है। संगठन की शुरुआत 2018 में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर एवं जिले के ही एक शख्स साजिद खान शहजाद ने की । इस शख्स ने ना की महिलाओं का हौसला अफजाई किया बल्कि महिलाओं को अपने सम्मान के लड़ने के लिए महिलाओं की एक गैंग तैयार की। जिसे आज देश भर में महिला कमांडो के नाम से जाना जाता है। महिला कमांडो के नाम से अवैध कार्य करने वाले, नशा पानी करने वाले के पसीने छूटने लगते हैं। 40 महिलाओं से शुरू हुई महिला कमांडो जिस ने आज जिले के लगभग 82 गांव में सामाजिक बुराइयों के विरोध में सक्रिय रूप से कार्य करना प्रारंभ कर दिया है।

Advertisement

पहले जहां इसकी संख्या 40 थी वह अब जाकर तकरीबन 6000 के करीब हो चुकी है मुंगेली जिला का सबसे सक्रिय एवं सबसे बड़ा महिला संगठन के रूप से जाना जाता है । इस महिला संगठन के चलते ही गांव की सामाजिक बुराइयां जैसे जुआ, सट्टा, शराब, अवैध कार्य में लगाम लगाया जा रहा है। महिला कमांडो 4 वर्ष पूर्ण होने के पश्चात एवं 6000 महिलाओं के जोड़ने पर व महिलाओं के सम्मान में महिला कमांडो के ब्रांड एंबेसडर व अध्यक्ष साजिद खान शहजादा ने पुराना बस स्टैंड कमेटी हॉल में महिलाओं का सम्मान समारोह का आयोजन किया गया जिसमे अतिथि के रूप में लेखनी सोनू चंद्राकर अध्यक्ष जिला पंचायत मुंगेली, सागर सिंह बैस जिलाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी मुंगेली, मुंगेली विधानसभा प्रत्याशी राकेश पात्रे और हेमेंद्र गोस्वामी अध्यक्ष नगर पालिका परिषद मुंगेली उपस्थित रहे, महिला कमांडो के अध्यक्ष साजिद खान ने बताया कि 2018 से अब तक सामाजिक बुराइयों को दूर करने की इच्छा लेकर महिलाओं के एक बड़े गैंग को तैयार कर रहे हैं जो अपने आसपास के गांव में अवैध तरीके से कारोबार करने वाले एवं जुआ, सट्टा, नशाखोरी करने वाले को बंद कराने की कोशिश करते हैं और यही वजह है कि आज मुंगेली जिले में प्रचलित वेश्यावृत्ति के नाम से बदनाम शहर जिसे इस महिला कमांडो एवं पुलिस के सहयोग से बंद करा दिया गया है । महिला कमांडो के द्वारा वास्तविकता में सामाजिक बदलाव देखने को मिल रहा है। कार्यक्रम के अतिथि लेखनी सोनू चंद्राकर ने बताया कि मुंगेली जिले में कार्य कर रही महिला कमांडो मुंगेली जिले का गौरव है इस महिला कमांडो के द्वारा हमारे गांव में होने वाली महिला संबंधित अपराध एवं अवैध जुआ, शराब, सट्टा को बंद कराने के लिए अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है महिला कमांडो पूरे जिले में का गौरव है इस महिला कमांडो की आवाज पूरी मुंगेली में ना रह कर पूरे प्रदेश तक जा रही है वही इस महिला सम्मान समारोह में महिला कमांडो के लगभग 1000 से अधिक महिलाओं ने भाग लिया और समस्त 6000 महिलाओं को प्रशस्ति पत्र वितरण किया गया।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button