गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाहीछत्तीसगढ़

वन अधिकार पट्टे को लेकर जिले में एकता परिषद के बैनर तले निकली वनवासियों की मैराथन रैली

(शशि कोन्हेर) : पेंड्रा। जल जंगल जमीन पर आदिवासियों का अधिकार, कब्जा और वन अधिकार पट्टा दिलाने को लेकर गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले में एकता परिषद के बैनर तले वनवासी लोगों के द्वारा सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर कई किलोमीटर पैदल चलकर वन अधिकार संवाद यात्रा निकाली गई और जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया।

Advertisement

जिसमें छत्तीसगढ़ सरकार से ग्रामीण आदिवासियों ने मांग किया है कि वर्षों से जिस बेजा कब्जा जमीन पर  खेती किसानी कर जीवन यापन करते रहे हैं, उस जमीन का वन अधिकार पट्टा सरकार के द्वारा दिलाए जाने का आश्वासन दिया गया था, वह अब तक नहीं मिल पाई है और वन अधिकार कानून जो 2006 में आया था उसका क्रियान्वयन नहीं किया गया है।

Advertisement

वही किसानों ने कहा कि कुछ लोगों को पट्टा मिला है लेकिन जितने जमीन में वह किसान काबिज है उससे बहुत कम ज़मीन का पट्टा दिया गया है। जबकि किसान जितने जमीन का हकदार है उतनी जमीन सरकार को देना चाहिए क्योंकि आदिवासी समाज सदियों से जंगलों में रहकर अपना जीवन यापन कर रहा है लेकिन प्रशासन के उदासीन रवैये के चलते वनवासी लोगों को उनका अधिकार नहीं मिल रहा है,वनवासी  लोगों को उनका हक और अधिकार दिलाये जाने की जरूरत है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button