छत्तीसगढ़

श्री हरिहर क्षेत्र केदार द्वीप मदकू में नौका दौड़, हनुमान चालीसा और सुंदर काण्ड पाठ के साथ मना हनुमान प्रकटोत्सव..

Advertisement

(धीरेंद्र मेहता) : सरगांव – श्री हरिहर क्षेत्र केदार द्वीप मदकू में श्री हनुमान प्रकटोत्सव समारोह में नौका दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। नौका दौड़ का आयोजन सदानीरा शिवनाथ की धारा किया गया। नौका दौड़ में शिवनाथ नदी के तटवर्तीय ग्रामों की 18 टोलियों के द्वारा सहभागिता दी गई।

Advertisement

एक किलोमीटर की दूरी की इस नौका दौड़ प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले मेलू निषाद, अगेसर निषाद को स्व. चंद्रिका यादव की स्मृति में 3100 रूपये एवं श्रीफल, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले जगतराम निषाद, द्वारिका निषाद को 2100 की राशि एवं श्रीफल, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बृजलाल निषाद, चंद्र राम निषाद को 1100 रूपये एवं श्रीफल क्रमशः सामाजिक कार्यकर्ता वासुदेव वोपचे,संत रामरूप दास महात्यागी, कमलेश अग्रवाल के कर कमलों द्वारा प्रदान किया गया। प्रतियोगिता में सहभागिता देने वाले सभी प्रतिभागियों को श्री हरिहर क्षेत्र केदार द्वीप सेवा समिति मदकू और पाराशर प्रजापति की ओर प्रोत्साहन राशि प्रदान की गई।

Advertisement


श्री हनुमान प्रकटोत्सव समारोह में द्वीप परिसर में स्थित प्राचीन श्री हनुमान मंदिर में पूजन, सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ, सामुहिक सुन्दरकाण्ड पाठ,आरती के पश्चात प्रसाद वितरण एवं भण्डारा का आयोजन किया गया।

उक्त आयोजन में समिति के जीवन लाल कौशिक, राममनोहर दुबे,मनीष मिश्रा, प्रदीप शुक्ला, संतोष तिवारी, भगवती प्रसाद मिश्र,मनीष अग्रवाल,परस साहू, विजय सिंह,प्रमोद दुबे,सुरेश साहू, जागेश्वर सिंह,फेरहा राम, विरेन्द्र सिंह, दयाराम यादव,नेतराम सोनवानी सहित बड़ी संख्या में आसपास के गांवों के ग्रामीण  सम्मिलित हुए।

छत्तीसगढ़ का प्रथम एवं एकमात्र है नौका दौड़ प्रतियोगिता स्मरणीय हो कि 14 वर्ष पूर्व श्री हनुमान प्रकटोत्सव समारोह के उपलक्ष्य में सामाजिक कार्यकर्ता शांताराम जी के मार्गदर्शन में प्रथम बार श्री हरिहर क्षेत्र केदार द्वीप मदकू में नौका दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

सदानीरा शिवनाथ नदी के तटवर्ती मदकू द्वीप के आसपास के ग्रामों में निवास करने वाले निषाद समाज जो अपनी आजीविका हेतु छोटी नावों से मत्स्याखेट करते हैं, इन्हीं छोटी नाव चलाने नाविकों के द्वारा नौका दौड़ प्रतियोगिता में सहभागिता दी जाती है। प्रतिवर्ष नौका दौड़ में सहभागिता देने वाले प्रतिभागियों की संख्या बढ़ती जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button