play-sharp-fill
छत्तीसगढ़

एनीकट पार करते समय पैर फिसला, शिक्षक समेत तीन डूबे, तलाश जारी

(शशि कोन्हेर) : रायपुर :  शिक्षक दिवस के दिन एक बूरी सामने आई जब मुर्रा गांव के पास खारुन नदी पर बने एनीकट को शिक्षक अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ पार रहे थे कि उनका पैर फिसल गया और तीनों एनीकट में गिए और गहरे पानी में बहते चले गए। बताया जाता है कि जिस समय यह हादसा हुआ उस समय एनीकट के ऊपर पानी बह रहा था। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची गोताखोरी की टीम उनकी तलाश में जुटी हुई है, फिर तीनों का कोई पता नहीं चल सका है।

Advertisement


प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार की दोपहर को धरसींवा इलाके के रहने वाले शिक्षक लखनलाल बंजारे (58) अपने परिवार के हरजीत भारती (15) और शेखर बंजारे (28) के साथ मुर्रा गांव में खारुन नदी पर बने एनीकट को पार कर रहे थे। बताया जाता है कि जिस समय वे एनीकट को पार कर रहे थे उस समय एनीकट के ऊपर से पानी बह रहा था और इसी उसी दौरान तीनों का पैर फिसल गया और वे एनीकट में गिर और गहरे पानी के साथ डूबकर बहने लगे।

Advertisement

घटना के समय आसपास कुछ लोग मौजूद थे और उन्होंंने तत्काल इसकी सूचना 112 के माध्यम से पुलिस को दी। सूचना मिलते ही धरसींवा थाने की पुलिस गोताखोरों के साथ तत्काल घटनास्थल पर पहुंची और एनीकट में कूदकर उनकी तलाशी शुरु की, लेकिन अभी तक उनका कोई पता नहीं चल सका है।

Advertisement


घटना की जानकारी जैसे ही जिला पंचायत सदस्य राकेश यादव को हुई वे भी एनीकट पर पहुंचे और जिला प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते कहा कि एनीकट में 14 गेट हैं, लगातार बोलने पर भी किसी प्रकार का मेंटेनेंस नहीं किया गया। अगर 4 गेट भी खुले होते तो यह हदासा नहीं होता क्योंकि सभी गेट जाम हैं। लगातार हादसे के बाद भी प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button