देश

देश के मुसलमानों को लेकर बोले डॉक्टर फारुख अब्दुल्ला.. क्या इन्हें चीन भेज दोगे या समंदर में डुबो दोगे

Advertisement

(शशि कोंनहेर) : नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के प्रमुख और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा कि क्या ‘आप देश के 24 करोड़ मुस्लिमों को चीन भेज देंगे?’ उन्होंने केंद्र सरकार से देश को धार्मिक आधार पर नहीं बांटने को कहा है।

Advertisement

घाटी में गैर-बीजेपी दलों की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद जम्मू में मीडिया को संबोधित करते हुए अब्दुल्ला ने कहा कि समुदायों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा नहीं किया जाना चाहिए। फारूक अब्दुल्ला ने कहा, “डर और नफरत की राजनीति नई नहीं है। वे 22-24 करोड़ मुसलमानों का क्या करेंगे? क्या वे उन्हें समुद्र में फेंक देंगे या उन्हें चीन भेज देंगे?”

Advertisement

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को करीब एक दर्जन पार्टियों के नेताओं के साथ केंद्र शासित प्रदेश में चुनाव व अन्य मांगों को लेकर बैठक की। बैठक में केंद्र शासित प्रदेश में यथाशीघ्र विधानसभा चुनाव कराने की मांग को लेकर दिल्ली में निर्वाचन आयोग से मुलाकात करने और जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग तेज करने का फैसला किया गया। यह बैठक अब्दुल्ला के आवास पर हुई।

बैठक के बाद अब्दुल्ला ने संवाददाताओं से कहा कि जम्मू-कश्मीर का दर्जा पूर्ण राज्य से घटाकर केंद्र शासित प्रदेश करना राष्ट्र के लिए त्रासदी है। इस बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष विकार रसूल वानी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता एम वाई तारिगामी, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) नेता अमरिक सिंह रीन, नेशनल पैंथर्स पार्टी नेता हर्ष देव सिंह, आम आदमी पार्टी (आप) नेता और जिला विकास परिषद सदस्य टीएस टोनी सहित अन्य नेताओं ने हिस्सा लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button