गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही

मरवाही वन परिक्षेत्र में नियम विरुद्ध बिछाया जा रहा केबल…जंगल को नुकसान, मजदूरों का हो रहा अहित..

(सुहैल आलम) : मरवाही वन मंडल में ऑप्टिकल फाइबर लाइन बिछाने के नाम पर ठेकेदार के द्वारा नियम कानून को ताक में रखकर जंगल को नुकसान पहुचाने का मामला सामने आया है, जिसमे शासन के निर्देश को ठेंगा दिखाते हुए जंगल मे मजदूरो से गड्ढे खुदवाने का काम लिया है, पर ठेकेदार द्वारा jcb मशीन से काम कराते हुए मुनारा सीपीटी और पेड़ो को नुकसान पहुचाया है, मौके पहुचे वन अधिकारियों की माने तो बिना सूचना के काम कराने व जंगल को नुकसान पहचाने के मामले में भाग रहे जेसीबी को जप्त करते हुए आगे की कार्यवाही की जा रही है।

Advertisement

दरअसल पूरा मामला मरवाही वन मंडल के मरवाही वन परिक्षेत्र से जुड़ा हुआ है जहां पर इन दिनों ऑप्टिकल फाइबर केबल लाइन बिछाने का काम ठेकेदार के द्वारा किया जा रहा है, जिसके किये ठेकेदार मरवाही वन मंडल के झिरना गांव से पडखुरी गांव पहुच जंगल मार्ग पर इन दिनों गड्ढे खोदवाकर पाइप लाइन डालने का काम कर रहा है। जहां पर ठेकेदार के द्वारा आदेश के नियम को ठेंगा दिखाते हुए जेसीबी मशीन से खुदाई का काम कर रहा है, जिससे जंगल के मुनारा सीपीटी के साथ पेड़ो के जड़ को भी नुकसान पहुचाया गया है, जबकि ठेकेदार के द्वारा जिस आदेश का हवाला देकर काम किया जा रहा है, उस आदेश के क्रमांक 4 में साफ साफ लिखा हुआ है कि ऑप्टिकल फाइबर केबल लाइन बिछाने के दौरान खंती की चौड़ाई 0.50 मीटर और गहराई 1.65 मीटर होनी चाहिए साथ ही साफ शब्दों में यह भी आदेश में लिखा गया है कि वन्यप्राणी व बायोडायवसिटी को किसी भी प्रकार का नुकसान न पहुचे इसे ध्यान में रखकर स्थानीय वन अधिकारियों की निगरानी में बिना किसी मशीन का उपयोग करते हुए मजदूरो के द्वारा खंती खोदकर उपयोग के बाद स्वयं के खर्च से भरकर समतली किया जाएगा, पर ठेकेदार के द्वारा शासन के नियम को ठेंगा दिखाकर जंगल के अंदर मशीन से काम कराया गया मामले की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुच जब जानकारी ली तो पता चला कि ठेकेदार के द्वारा मरवाही वन मंडल में जंगल मे काम करने का कोई भी आदेश नही दिया गया न ही किसी वन अधिकारी को मौके पर खड़ा करके खुदाई का काम मजदूरो से लिया गया जबकि जो pdf आदेश वन अधिकारी को मौके पर दिखाया गया उसमें धमतरी जिले में काम करने का जिक्र था मौके पर पहुचे वन अमला ने जैसे ही कार्यवाही शुरू की तो जेसीबी मशीन चालक मशीन लेकर भागने लगा जिसके बाद वन अधिकारी मौके पर जाकर जेसीबी जप्त कर आगे की कार्यवाही किये जाने की बात करते हुए मामले को गंभीर बतला रहे है और मामले में राजसात की कार्यवाही भी किया जा सकता है कह रहे है वही मौके पर मौजूद ठेकेदार की माने तो उनसे गलती हुई है और नियम विरुद्ध उनके द्वारा जंगल मे मशीन चलाया गया है जो गलत है और उसके लिए ठेकेदार के कर्मचारी क्षमा मांगते नजर आए वही कार्यवाही के लिए मौके पर पहुचे वन अधिकारी की माने तो जेसीबी से केबल डालने वाले ठेकेदार के द्वारा जंगल को काफी नुकसान पहुचाया गया है और वन विभाग के पहुचते ही जेसीबी चालक मशीन लेकर भागने की कोशिश कर रहा था जिसे रास्ते मे रोकर जप्ती कार्यवाही की जा रही है।

Advertisement
बाइट – मान सिंह श्याम, डिप्टी रेंजर मरवाही वन परिक्षेत्र
बाइट – अनिल चतुर्वेदी ठेकेदार का कर्मचारी

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button