छत्तीसगढ़बिलासपुर

एक जीवनदायनी प्रक्रिया सीपीआर सप्ताह के अवसर पर अपोलो मैं लाइव वर्कशॉप का आयोजन

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर: विश्व सीपीआर  दिवस के अवसर पर अपोलो हॉस्पिटल बिलासपुर के वरिष्ठ शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सुशील कुमार ने बताया की सीपीआर एक आपातकालीन स्थिति में प्रयोग की जाने वाली प्रक्रिया है जो किसी व्यक्ति की धड़कन या सांस रुक जाने पर प्रयोग की जाती है।

Advertisement

सीपीआर में बेहोश व्यक्ति को सांसें दी जाती हैं, जिससे फेफड़ों को ऑक्सीजन मिलती है और साँस वापस आने तक या दिल की धड़कन सामान्य होने तक छाती को दबाया जाता है जिससे शरीर में पहले से मौजूद ऑक्सीजन वाला खून संचारित होता रहता है। हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट, डूबना, सांस घुटना और करंट लगना जैसी स्थितियों में सीपीआर की आवश्यकता हो सकती है।

Advertisement

अगर व्यक्ति की सांस या धड़कन रुक गई है, तो जल्द से जल्द उसे सीपीआर दें क्योंकि पर्याप्त ऑक्सीजन के बिना शरीर की कोशिकाएं बहुत जल्द खत्म होने लगती हैं। मस्तिष्क की कोशिकाएं कुछ ही मिनटों में खत्म होने लगती हैं, जिससे गंभीर नुकसान या मौत भी हो सकती है।

Advertisement

अध्ययनों से पता चलता है कि अगर अधिक लोगों को सीपीआर देना आ जाए तो कई जानें बचाई जा सकती हैं, क्योंकि सही समय पर सीपीआर देने से व्यक्ति के बचने की सम्भावना दोगुनी हो सकती है।

निम्नलिखित स्थितियों में सीपीआर देने की आवश्यकता हो सकती है –

अचानक गिर जाना – व्यक्ति के अचानक गिर जाने पर उसकी सांस और नब्ज़ देखें।
बेहोश होना – बेहोश होने पर व्यक्ति को होश में लाने की कोशिश करें और अगर वह होश में न आए, तो उसकी सांस और नब्ज़ देखें।
सांस की समस्याएं – सांस रुक जाना या अमियमित सांस लेने की स्थिति में सीपीआर देने की आवश्यकता होती है। ( और पढ़ें – सांस लेने में परेशानी के लक्षण)
नब्ज़ रुक जाना – अगर व्यक्ति की नब्ज़ नहीं मिल रही है, तो हो सकता है उसके दिल ने काम करना बंद कर दिया हो। ऐसे में व्यक्ति को सीपीआर देने की आवश्यकता हो सकती है। (और पढ़ें – अनियमित दिल की धड़कन के लक्षण)
करंट लगने पर – अगर किसी व्यक्ति को करंट लगा है, तो उसे छुएं नहीं। लकड़ी की मदद से उसके आसपास से करंट के स्त्रोत को हटाएँ और इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी वस्तु में करंट पास न हो सके।
डूबना/ ड्रग्स/ धुंए के संपर्क में आना – इन स्थितियों में व्यक्ति की नब्ज़ व सांस की जांच करें। उसे सीपीआर की आवश्यकता हो सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button