play-sharp-fill
देश

चारधाम पर ऊंचाई में सांस लेने में दिक्कत से 12 दिन में 42 की गई जान…यात्रा पर जाने से पहले यह हेल्थ गाइडलाइन

Advertisement


राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के बुलेटिन के अनुसार,
यमुनोत्री-केदारनाथ समेत चारों धामों में तीर्थ यात्री दर्शन करने को पहुंच रहे हैं। गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान आदि राज्यों से श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखने को मिल रही है। लेकिन, इसी के बीच एक चिंता करने वाली खबर भी सामने आई है।

Advertisement

10 मई से शुरू चारधाम यात्रा में तीर्थ यात्रियों की मौत भी हो रही है। चारधाम यात्रा में 12 दिनों के दौरान 42 यात्रियों की मौत हो गई। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र की ओर से बुधवार को सचिवालय स्थित कंट्रोल रूम से यह डाटा जारी किया गया।

Advertisement

राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के बुलेटिन के अनुसार, कपाट खुलने के बाद अब तक केदारनाथ में सबसे ज्यादा 19 तीर्थयात्रियों की मौत हुई है। इसके बाद यमुनोत्री में 12, बदरीनाथ में नौ और गंगोत्री में दो श्रद्धालुओं की जान जा चुकी है।

इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि यात्रा के दौरान जान गंवाने वालों में अधिकांश बुजुर्ग और पहले से किसी बीमारी से ग्रसित लोग थे। हालांकि यात्रा से पूर्व तीर्थयात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। विभाग के अनुसार, करीब डेढ़ लाख श्रद्धालुओं की अभी तक स्क्रीनिंग कराई जा चुकी है।

इसके बावजूद कई तीर्थयात्री बीमारी छिपाकर यात्रा के लिए पहुंच रहे हैं। मालूम हो विभाग चारधाम यात्रियों के लिए एजवाइजरी जारी कर चुका है। इसके तहत यात्रा पर आने से पहले अनिवार्य रूप से स्वास्थ्य परीक्षण कराने और बीमार होने पर यात्रा न करने की सलाह दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button