छत्तीसगढ़

वर्षा काल में बांधों से छोड़ा जा सकता है  पानी, सिंचाई विभाग ने ग्रामीणों को किया सतर्क

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर : आगामी वर्षाकाल के दौरान आवश्यकता पड़ने पर बांगो बांध माचाडोली एवं हसदेव बैराज दर्री से नदी में पानी छोड़ा जाएगा। हसदेव परियोजना मंडल के अधीक्षण अभियंता द्वारा बाढ़ क्षेत्र में आने वाले गांव के लोगों से सतर्क रहने की अपील की गई है।

Advertisement

उन्होंने सभी नागरिकों एवं कार्य संबधितों को बांध से नीचे, हसदेव नदी के किनारे, बाढ़ क्षेत्र में स्थापित चल-अचल संपत्ति को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने को कहा गया है। साथ ही बाढ़ क्षेत्र में स्थापित खनिज खदान, औद्योगिक इकाईयों एवं अन्य संस्थानों को भी अपनी-अपनी परिसंपतियों को बाढ़ क्षेत्र से बाहर ले जाने की अपील की गई है। बाढ़ क्षेत्र में आने वाले संभावित ग्रामों में बांगो, लेपरा, नुनिया, कछार, कोनकोना, पोडीउपरोडा, चर्रा, पराघाट, छिनमेर, सिरकीकला, केरा, पाथी, सिलीयारीपारा, तिलसाभाठा, हथमार, छिर्रापारा, करमीपारा, जूनापारा, नवागांव, झोरा, कौरीघाट, पोड़ीखोहा, डोंगाघाट, धनगांव, लोटलोटा, नर्मदा, औराकछार, झाबू, सोनगुड़ा, नवागांव, स्याहीमुड़ा, जेलगांव, चारपारा, खैरभावना, बलरामपुर, भलपहरी, जोगीपाली, कोहड़िया, राताखार, गेवराघाट, इमलीडुग्नु, कुदुरमाल, बरीडीह, मोहरा, देवरी, चिचोली, कटबितला, झीका, ढिठोली आदि शामिल है।

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button