देश

अमेरिकी राष्‍ट्रपति बाइडेन 7 सितंबर को आएंगे भारत….पीएम मोदी से करेंगे द्विपक्षीय बैठक

(शशि कोन्हेर) : भारत में जी-20 शिखर सम्‍मेलन की तैयारियां अंतिम चरणों में हैं. आज जी20 सम्‍मेलन के लिए फुल ड्रेस रिहर्सल हो रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन जी20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए गुरुवार को भारत आ रहे हैं. व्‍हाइट हाउस ने बताया कि जो बाइडेन इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे. इस साल भारत जी20 शिखर सम्‍मेलन की अध्यक्षता कर रहा है. भारत 9 और 10 सितंबर को नई दिल्ली में होने वाले शिखर सम्मेलन के लिए वैश्विक नेताओं की मेजबानी करेगा.

Advertisement


PM मोदी और राष्‍ट्रपति बाइडेन करेंगे द्विपक्षीय बैठक
व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, राष्ट्रपति गुरुवार को जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए नई दिल्ली, भारत की यात्रा करेंगे. 8 सितंबर को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक में हिस्सा लेंगे. शनिवार और रविवार को राष्ट्रपति जी20 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे, जहां राष्ट्रपति और जी20 भागीदार स्वच्छ ऊर्जा परिवर्तन और जलवायु परिवर्तन से निपटने सहित वैश्विक मुद्दों से निपटने के लिए कई संयुक्त प्रयासों पर चर्चा करेंगे.

Advertisement


इस दौरान यूक्रेन में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के युद्ध के आर्थिक और सामाजिक प्रभावों पर बातचीत होगी, वैश्विक चुनौतियों से निपटने सहित गरीबी से बेहतर ढंग से लड़ने के लिए विश्व बैंक सहित बहुपक्षीय विकास बैंकों की क्षमता बढ़ाने पर भी चर्चा होगी. नई दिल्ली में रहते हुए, राष्ट्रपति जी20 के लिए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व की भी सराहना करेंगे और आर्थिक सहयोग के प्रमुख मंच के रूप में जी20 के प्रति अमेरिकी प्रतिबद्धता की पुष्टि करेंगे, जिसमें 2026 में इसकी मेजबानी भी शामिल है.

Advertisement


भारत से ऋग्वेद की पांडुलिपियां, ब्रिटेन से मैग्नाकार्टा की एक दुर्लभ प्रति और फ्रांस से ‘मोना लिसा’ की एक डिजिटल छवि यहां जी20 शिखर शिखर सम्मेलन स्थल पर ‘संस्कृति गलियारा’ में प्रदर्शित की जाने वाली कई कलाकृतियों में शुमार होंगी. अमेरिका से ‘चार्टर्स ऑफ फ्रीडम’ की सत्यापित मूल प्रतियां, चीन से एक फहुआ ढक्कन वाला जार और भारत से पाणिनि की ‘अष्टाध्यायी’ कुछ अन्य वस्तुएं हैं, जो गलियारे का हिस्सा होंगी.जी20 की भारत की अध्यक्षता के तहत संस्कृति मंत्रालय द्वारा ‘संस्कृति गलियारा – जी20 डिजिटल संग्रहालय’ की कल्पना की गई है. इस ‘फिजिटल (भौतिक और डिजिटल)’ परियोजना का अनावरण नौ सितंबर को शिखर सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर पर भारत मंडपम में किया जाएगा.


भारत अगले सप्ताहांत यहां होने वाले जी20 देशों के नेताओं के शिखर सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के हिस्सा लेने को लेकर चीन से लिखित पुष्टि का इंतजार कर रहा है. यह बात जी20 के विशेष सचिव मुक्तेश परदेशी ने शुक्रवार को कही. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बता चुके हैं कि शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए उनके लिए भारत की यात्रा करना संभव नहीं होगा.


अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीस, जर्मन चांसलर ओलाफ शोल्ज, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक, जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और ब्राजीली राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा जी20 के उन नेताओं में शामिल हैं, जिन्होंने शिखर सम्मेलन में अपनी भागीदारी की पहले ही पुष्टि कर दी है. पीएम मोदी 10 सितंबर को ब्राजील के राष्ट्रपति लूला को जी20 की अगली अध्यक्षता सौंपेंगे. ब्राज़ील एक दिसंबर को औपचारिक रूप से जी20 की अध्यक्षता ग्रहण करेगा.

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button