play-sharp-fill
देश

त्रिशूल’, ‘मशाल’ या ‘उगता सूरज’, उद्धव गुट ने चुनाव आयोग को इन चिन्हों का दिया प्रस्ताव

(शशि कोन्हेर) : मुंबई – शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट ने चुनाव आयोग को आगामी अंधेरी पूर्व विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव के लिए तीन नामों और प्रतीकों की एक सूची सौंपी। शिवसेना के ‘धनुष और तीर’ के चुनाव चिन्ह के दावे पर विवाद के बीच चुनाव आयोग ने शनिवार को पार्टी के दोनों गुटों को आगामी तीन नवंबर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव में इसका इस्तेमाल करने से रोक दिया था।

Advertisement


उद्धव गुट ने रविवार को चुनाव आयोग को पार्टी के चुनाव चिन्ह के तौर पर ‘त्रिशूल’, ‘उगते सूरज’ और ‘मशाल’ के विकल्प सौंपे। उद्धव गुट ने आगामी उपचुनावों के लिए तीन नामों का सुझाव दिया – शिवसेना (बाला साहेब ठाकरे), शिवसेना (प्रबोधनकर ठाकरे) और शिवसेना (उद्धव बाला साहेब ठाकरे)।

Advertisement

शिवसेना (उद्धव गुट) के सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि हमारी पार्टी का नाम शिवसेना है, अगर चुनाव आयोग शिवसेना (बाला साहेब ठाकरे)’, ‘शिवसेना (प्रबोधनकर ठाकरे)’ या ‘शिवसेना (उद्धव बाला साहेब ठाकरे)’ सहित शिवसेना से संबंधित कोई भी नाम देता है, तो वह होगा हमें स्वीकार्य है।

Advertisement

शिंदे गुट ने उद्धव गुट पर साधा निशाना
इस बीच, शिंदे गुट ने उद्धव गुट पर निशाना साधते हुए कहा कि उसे कई वोट नहीं मिलेगा और वह जनता की सहानुभूति लेने में व्यस्त है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के मंत्रिमंडल में मंत्री दीपक केसरकर ने कहा कि उन्होंने (उद्धव गुट) पिछले 2.5 वर्षों में कुछ नहीं किया है। लोग उन्हें वोट नहीं देंगे, इसलिए वे सहानुभूति मांग रहे हैं। ईसीआई एक संवैधानिक प्राधिकरण है, हमें इसका सम्मान रखना चाहिए। केसरकर ने कहा कि हमारे पास सभी दस्तावेज हैं और हमारे पास बहुमत है। हमें न्याय और चुनाव चिन्ह भी मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button