बिलासपुर

बेलगहना और खोडरी समेत सभी स्टेशनों में ट्रेनों के स्टॉपेज के लिए चल रही भूख हड़ताल अटल श्रीवास्तव की पहल और रेल अधिकारियों के आश्वासन पर हुई समाप्त

(शशि कोन्हेर) : बेलगहना – बेलगहना में चार दिनों से चल रहे भूख हड़ताल आज पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव एवं सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक की उपस्थिति में रेलवे अधिकारियों के आश्वासन पर समाप्त किया। रेल प्रशासन के तानाशाही रवैये बेलगहना, कोटा, खोंगसरा में स्टापेज बंद करने के विरोध में किसान कांग्रेस द्वारा जिला अध्यक्ष संदीप शुक्ला की अगुवाई में आंदोलन किया जा रहा था, इस बीच लगातार भूख हड़ताल स्थल पर आसपास के महिलायें, जनप्रतिनिधि समर्थन देने हेतु पहुंच रहे थे, 10 मई से लगातार भूख हड़ताल जारी थी, हड़ताल में बढ़ती भीड़ और समर्थन से रेलवे के अधिकारी श्री एस.भारतीयन-सहायक वाणिज्य प्रबंधक, श्री पी.के.नगायच-मुख्य वाणिज्य निरीक्षक बिलासपुर, एस.डी.एम. कोटा तुलाराम भारद्वाज के साथ पहुंचकर आश्वासन दिया कि आपकी मांगों को मण्डल कार्यालय, महाप्रबंधक कार्यालय के द्वारा रेलवे बोर्ड को भेज दिया जायेगा, रेलवे अधिकारियों ने कहा कि स्टापेज बंद करने का निर्णय रेलवे बोर्ड ने पूरे देश में लिया है, जिसका असर हमारे जोन में भी है, चालू करने का निर्णय बोर्ड से ही होगा। आपकी मांगों और ज्ञापन को हम सभी उच्च अधिकारियों तक पहुंचा देंगे।

Advertisement


संदीप शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि आज भूख हडताल को समर्थन देने हेतु छ.ग.पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला सहकारी अध्यक्ष प्रमोद नायक, छ.ग.प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, बिलासपुर महिला कांग्रेस अध्यक्ष सीमा घृतेश पहुंचे।

Advertisement


आंदोलन को संबोधित करते हुए अटल श्रीवास्तव ने रेलवे को चेतावनी देते हुए कहा कि 10 दिन के भीतर अगर रेल प्रशासन स्टापेज को पुनः चालू करने एवं रद्ध की गई ट्रेनों को प्रारम्भ करने का निर्णय नहीं लिया, तो महाप्रबंधक कार्यालय का घेराव किया जायेगा एवं उसके बाद भी निर्णय नहीं हुआ तो सभी स्टेशनों पर जनता को साथ लेकर गाड़ियों को रोका जावेगा। कोयला लदान बंद किया जायेगा, रेलवे अधिकारियों को 1996 को रेल जोन आंदोलन याद रखना चाहिए। उसी तरह का जन आक्रोश मोदी सरकार और रेल प्रशासन के खिलाफ जनता के बीच उत्पन्न हो रहा है। कार्यक्रम को प्रमोद नायक, अभय नारायण राय, सीमा घृतेश ने भी संबोधित किया। भूख हड़ताल में बैठे आंदोलन कारियों ने रेल प्रशासन के खिलाफ नारे लगाकर नाराजगी जाहिर की। विशेषकर महिलाओं ने अपनी पीड़ा व्यक्त की।

Advertisement


संदीप शुक्ला ने यह भी बताया कि रेल प्रशासन के इस निर्णय के खिलाफ 5 आंदोलनकारी प्रतिदिन मुण्डन करायेंगे और बाल महाप्रबंधक कार्यालय भेज जायेगा। उन्होंने कहा कि 10 दिन के पश्चात् खोड़री से पदयात्रा प्रारम्भ कर बिलासपुर महाप्रबंधक कार्यालय पहुंचकर धरना देंगे।


कार्यक्रम में गोविंद यादव, कुलवंत सिंह, कमलू कश्यप, अमित गुप्ता, लाला निर्मलकर, हैप्पी गुप्ता, पनेश्वर सोनी, चन्द्रिका सोनी, कन्हैया गंधर्व, भूषण यादव, सुखसागर दास, मनोज बाजपेयी, सोनू गुप्ता, संगीता तिवारी, शैल बाला कुजूर, आशु चौहान, मधु सौंधिया, गोलू श्रीवास, विजय गुप्ता, सुंदर सोनवानी, ए.के.राय, हीरा, घनश्याम सिंह, नौसाद खान, विमला बाई, यशोदा बाई, खोलबहरीन, चंद्रकला मराठा, अश्वनी उद्देश, आशीष मिश्रा, सोएब खान, बाबा जायसवाल, राजेश्वर पाण्डेय, कन्हैया यादव, टीकाराम आदि उपस्थित थे, पूरे समय एस.डी.एम.कोटा, तहसीलदार बेलगहना उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button