देश

शरद पवार ने भतीजे अजीत को बताया अपना नेता, सुप्रिया सुले ने भी कही ऐसी ही बात, चक्कर में महाराष्ट्र की राजनीति

(शशि कोन्हेर)/: एनसीपी में हुई दो फाड़ के बीच पार्टी प्रमुख शरद पवार का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि NCP में कोई टूट नहीं है। शरद पवार ने शुक्रवार को कहा कि इसमें कोई मतभेद नहीं है कि अजित पवार हमारे नेता हैं, एनसीपी में कोई विभाजन नहीं है।

Advertisement

NCP सुप्रीमो ने अपने भतीजे अजित पवार के साथ किसी भी मतभेद की खारिज कर दिया। शरद पवार ने कहा कि किसी पार्टी में फूट कैसे पड़ती है? ऐसा तब होता है जब राष्ट्रीय स्तर पर कोई बड़ा समूह पार्टी से अलग हो जाता है लेकिन आज एनसीपी में ऐसी कोई स्थिति नहीं है। हां, कुछ नेताओं ने अलग रुख अपनाया लेकिन इसे फूट नहीं कहा जा सकता। वे लोकतंत्र में ऐसा कर सकते हैं। अगर उन्होंने कोई फैसला लिया है, तो ‘फूट पड़ गई’ ऐसा कहने की कोई वजह नहीं है, ये उनका निर्णय है।

Advertisement

सुप्रिया सुले ने कहा कि NCP में कोई टूट नहीं
इससे पहले गुरुवार को शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने भी कहा था कि NCP में कोई टूट नहीं है, अजित पवार ने बस अलग कदम उठाया है। सुले ने कहा था कि डिप्टी सीएम अजित पवार एनसीपी के वरिष्ठ नेता हैं। सुप्रिया सुले ने यह भी कहा कि शरद पवार राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और जयंत पटेल एनसीपी के महाराष्ट्र अध्यक्ष हैं। पुणे में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची सुप्रिया सुले ने कहा था कि एनसीपी में टूट नहीं हुई है, बस हमारी पार्टी के कुछ नेताओं ने अलग स्टैंड लिया है। हमने इस बारे में शिकायत की है।

Advertisement


शरद पवार से चार बार मुलाकात कर चुके अजित
गौरतलब है कि जुलाई 2023 में अपने चाचा शरद पवार से बगावत कर अजित पवार शिंदे सरकार में शामिल हो गए थे। पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली थी जबकि उनके साथ 8 और विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी। अजित ने दावा किया था कि NCP के 40 विधायकों का समर्थन उनके पास है। हालांकि, पार्टी से अलग होने के बाद अजित पवार अपने चाचा से चार बार मुलाकात भी कर चुके हैं।


राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने एक कार्यक्रम के दौरान यह भी कहा कि प्याज के निर्यात पर लगाया गया 40 प्रतिशत शुल्क हटाया जाना चाहिए और उन्होंने यह दावा भी किया कि केंद्र सरकार चीनी के निर्यात पर भी प्रतिबंध लगा सकती है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने पुणे जिले की पुरंदर तहसील में बृहस्पतिवार को एक कार्यक्रम में कहा कि प्याज के उचित मूल्य सुनिश्चित करना सरकार की जिम्मेदारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button