देश

ऑनलाइन मोड में हो सकती है NEET UG की परीक्षा..

Advertisement

NEET UG परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद कई तरह के सवाल उठे हैं। इस मुद्दे को लेकर छात्रों ने सड़कों पर प्रदर्शन किया और संसद के गलियारों में भी इसकी गूंज सुनाई दी। नीट यूजी पेपर लीक पर बढ़ते विवाद के बीच सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले साल से NEET UG का एग्जाम ऑनलाइन मोड में कराए जाने पर विचार चल रहा है।

Advertisement

मालूम हो कि अब तक नीट की परीक्षा पेन-एंड-पेपर से होती रही है, जिसमें MCQ टाइप के प्रश्न पूछे जाते हैं। मगर, आने वाले दिनों में नीट यूजी के लिए भी IIT, JEE मेन या JEE एडवांस्ड जैसी कंप्यूटर आधारित परीक्षा को अपनाया जा सकता है।

Advertisement

नीट पेपर लीक को लेकर बीते हफ्ते में करीब तीन उच्च-स्तरीय बैठकें हुई हैं, जहां मामले को लेकर अलग-अलग पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। 22 जून को केंद्र सरकार की ओर से पूर्व ISRO अध्यक्ष के. राधाकृष्णन की अध्यक्षता में 7 सदस्यीय पैनल का गठन किया गया। टेस्ट प्रक्रिया व डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल में सुधारों की सिफारिश करने और NTA की संरचना व कार्यप्रणाली की समीक्षा के लिए यह कमेटी बनाई गई।

गौरतलब है कि 2018 में तत्कालीन शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस मामले पर बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा कि 2019 से NEET ऑनलाइन और साल में 2 बार आयोजित किया जाएगा। हालांकि, स्वास्थ्य मंत्रालय की आपत्ति के बाद शिक्षा मंत्रालय को यह निर्णय वापस लेना पड़ा। मगर, अब सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि ऑनलाइन परीक्षा को लेकर गंभीरता से विचार किया जा रहा है।

वहीं, नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन (NBE) आगामी NEET PG परीक्षा को रिशेड्यूल करने की तैयारी में है। इसे लेकर नई तारीखों की घोषणा सोमवार या मंगलवार को हो सकती है। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि एनबीई अगले दो दिन के भीतर नीट-पीजी के लिए नई तारीख का ऐलान करेगा।

दरअसल, प्रतियोगी परीक्षाओं में कथित अनियमितताओं को लेकर विवाद काफी बढ़ा हुआ है। एहतियाती कदम उठाते हुए पिछले सप्ताह रद्द की गई परीक्षाओं में नीट-पीजी की परीक्षा भी शामिल है।

इस बीच, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने NEET विवाद के चलते स्थगित परीक्षाओं की नई तारीखें जारी कर दी हैं। ज्वॉइंट CSIR UGC-NET अब 25 से 27 जुलाई तक आयोजित की जाएगी। वहीं, स्थगित यूजीसी नेट की परीक्षा 21 अगस्त से 8 सितंबर के बीच होगी। इस साल बड़ा बदलाव यह है कि ये परीक्षाएं कंप्यूटर आधारित टेस्ट मोड में आयोजित की जाएंगी। ऐसे में अबकी बार कलम-और-कागज का इस्तेमाल नहीं होगा। बता दें कि एनटीए की ओर से आयोजित नेशनल कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (NCET) 10 जुलाई को आयोजित किया जाएगा।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button