छत्तीसगढ़

हर्षोल्लास के साथ मनाया गया नाग पंचमी  ,  हुआ दंगल (कुश्ती) का आयोजन

(मुन्ना पाण्डेय) : लखनपुर- धार्मिक आस्था से जुड़ी नागपंचमी पर्व क्षेत्र में उल्लास के साथ मनाया गया नगर सहित आसपास ग्रामीण अंचल में लोगों ने विधिवत नाग देवता एवं महाबीर हनुमान जी सहित सभी देवी देवताओं के पूजा अर्चना  देवमन्दिरो  में जाकर दर्शन पूजन किये। नाग देवता के निमित्त दूध लाई का प्रसाद अर्पित कर आशीर्वाद प्राप्त किये।

Advertisement

पौराणिक मान्यतानुसार नाग पंचमी का पर्व  सावन शुक्ल पक्ष के पंचमी तिथि को मनाया जाता है नाग देवता के पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती है तथा सभी प्रकार के अनिष्ट कारी  दोष कष्ट दूर होते हैं। इस मौके पर दगल कुश्ती  का आयोजन किये कराये जाने की परिपाटी रही है।

Advertisement

इसी कड़ी में प्रत्येक साल की भांति इस वर्ष भी स्थानीय प्राचीन स्वयं भू शिवमन्दिर प्रांगण में स्थित हनुमान मंदिर अखाड़े में 2 अगस्त  मंगलवार को नाग पंचमी के मौके पर आयोजन समिति के राजू बारी सेवानिवृत शिक्षक ऋषि मुनि राय नरेंद्र पांडेय मनोज राय (पप्पू), सुजीत चौधरी हर्षवर्धन पांडेय के द्वारा कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन कराया गया।

Advertisement


जिसमें ब्लाक स्तर के पहलवानों ने अखाड़े में कुश्ती कला का प्रदर्शन किया।  दंगल प्रतियोगिता में प्रतिभागी  पहलवानों को समिति द्वारा पुरस्कृत भी किया गया. प्रथम पुरूस्कार मधु शंकर ग्राम केवरी को 11 सौ तथा दितीय पुरूस्कार मास्टर सिंह ग्राम अमगसी एवं तृतीय पुरस्कार विजय सिंह को दिया गया कम उम्र के पहलवानों में रूद्र चौधरी प्रथम एवं खली को सांत्वना पुरस्कार दी गई । इस मौके पर क्षेत्र के कुश्ती प्रेमी काफी संख्या में उपस्थित रहे।


बता दें कि इस दंगल प्रतियोगिता में लखनपुर क्षेत्र के अलावा दूसरे ब्लाक के पहलवान  अखाड़े  मैं शामिल होते हैं,.।  धार्मिक  जानकरों की मानें तो इस दिन नागदेव की पूजा करने से सांपों के कारण होनेवाले सर्पदंश दोष दूर होता और सांपों   का भय खत्म हो जाता है. नागपंचमी के दिन नाग देवता को  दूध लाई के अलावा  विभिन्न प्रकार के प्रसाद अर्पित किया जाकर का भोग लगाया जाता है.। यह पर्व उल्लास के साथ मनाया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button