बिलासपुर

स्मृति ईरानी की मौजूदगी में महिला मोर्चा निकालेंगी हुंकार रैली…बिलासपुर में महिलाओं को सामने रखकर भाजपा का शक्ति प्रदर्शन

Advertisement

(इरशाद अली संपादक लोकस्वर टीवी) : बिलासपुर / 11 नवंबर को महतारी हुंकार रैली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, मंत्री रेणुका सिंह, सांसद संगीता यादव राष्ट्रीय महामंत्री महिला मोर्चा,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह सांसद अरुण साव,नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, सहित तमाम महिला मोर्चा के अलावा प्रदेश की महिला पदाधिकारी और भाजपा के तमाम पदाधिकारी कार्यकर्ता शामिल होंगे।भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्ष शालिनी राजपूत ने बताया कि प्रदेश में शराबबंदी, महिला सुरक्षा, सामूहिक दुष्कर्म, अनाचार,रेडी टू ईट से महिलाओं को बेरोजगार करना, स्व सहायता समूह की कर्जा माफी, प्रधानमंत्री आवास योजना को ठप्प करना जैसे इन मुद्दों को लेकर वे महतारी हूंकार रैली का आयोजन कर रहे हैं। जगमल चौक के पटेल ग्राउंड से रैली के जरिए नेहरू चौक तक पैदल यात्रा की जाएगी।

Advertisement

इसके बाद नेहरू चौक में तमाम बड़े भाजपा के नेता सभा को संबोधित करेंगे।इसके बाद शासन को ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। शालिनी राजपूत ने बताया कि प्रदेश के आदिवासी अंचल में दर्दनाक घटनाएं हो रही हैं जिस पर राज्य सरकार मौन बैठी हुई है। जशपुर जांजगीर सहित कई जिलों का उल्लेख करते हुए उन्होंने बताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था ठप्प पड़ गई है। वादाखिलाफी को लेकर यह महिलाओं की राज्य सरकार को चेतावनी है। इसके बाद भी भूपेश बघेल की सरकार नहीं चेती तो इस तरह के आंदोलन आगे भी किए जाते रहेंगे। बिल्हा विधायक धरमलाल कौशिक ने इस मौके पर कहा कि स्मृति ईरानी पूरे समय रैली में साथ में रहेंगी और नेहरू चौक में जाकर सभा को संबोधित करेंगी।

Advertisement

प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर उन्होंने कहा कि अपराध के मामले में बिहार और उत्तर प्रदेश से भी आगे छत्तीसगढ़ निकल चुका है। एनसीआरबी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने प्रदेश में स्थिति सरकार के हाथ से बाहर निकलने की बात कही। स्मृति ईरानी को कांग्रेसियों द्वारा काला झंडा दिखाए जाने के आह्वान पर धरमलाल कौशिक ने कहा कि अगर कल ऐसा होता है तो आगे कांग्रेसियों के भी कई आंदोलन होंगे उसमें भी इसी पैटर्न का उदाहरण पेश किया जाएगा।पत्रकार वार्ता के दौरान भूपेंद्र सवन्नी,विभाराव पूजा विधानी मौजूद रहीं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button