देश

अघोर – परम्परा के चार महान् सन्तों के नाम से काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में बँटा स्वर्ण पदक

(शशि कोन्हेर) : अब बुढ़ऊ बाबा बौर गुरुपद बाबा के नाम पर भी स्वर्ण पदक पूज्यपाद बाबा गुरुपद संभव राम जी के नेतृत्व में मेधावियों को प्रोत्साहित करने की दिशा में संस्था के प्रयास का ही यह सुफल है कि अब काशी हिन्दू विश्वविद्यालय , वाराणसी में पूज्यपाद बाबा राजेश्वर राम जी ( बुढ़ऊ बाबा ) और पूज्यपाद बाबा गुरुपद संभव राम जी के नाम पर भी स्वर्ण पदक का सृजन हो गया है । ये पदक प्रत्येक वर्ष क्रमशः बी ० ए ० आनर्स ( दर्शनशास्त्र ) और एम ० ए ० ( दर्शनशास्त्र ) की परीक्षा में सर्वोच्च अंक अर्जित करने वाले मेधावियों को प्रदान किया जाएगा ।

Advertisement

उल्लेखनीय है कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय ने सत्र २०१६-१७ से ही अपनी इन्हीं परीक्षाओं में सर्वोच्च अंक अर्जित करने वाले विद्यार्थियों को क्रमशः परमपूज्य अघोराचार्य महाराज श्री बाबा कीनाराम जी एवं परमपूज्य अघोरेश्वर महाप्रभु बाबा भगवान राम जी के नाम पर संस्था के सहयोग से स्वर्ण पदक देना प्रारम्भ कर दिया है । अतएव , काशी हिन्दू विश्वविद्यालय – जैसे नामचीन विद्या संस्थान में अघोर परम्परा के चार प्रमुख आचार्यों के नाम पर स्वर्ण पदक का सृजन केवल श्री सर्वेश्वरी समूह के लिये ही नहीं , वरन् पूरे संत समाज के लिये गर्व का विषय है ।

Advertisement

दिनांक २४.१२.२०१ ९ को काशी हिन्दू विश्वविद्यालय , वाराणसी के १०१ वें दीक्षांत समारोह में अघोर परम्परा के चार पीढ़ियों के महान संतों ( अघोराचार्य महाराजश्री बाबा कीनाराम , बाबा राजेश्वर राम , अघोरेश्वर भगवान राम एवं बाबा गुरुपद संभव राम ) के नाम से दर्शनशास्त्र विषय से बी ० ए ० आनर्स तथा एम ० ए ० में सर्वोच्च अंक प्राप्त छात्र / छात्राओं को विश्वविद्यालय द्वारा स्वर्ण पदक देकर सम्मानित किया गया ।

Advertisement

इसवर्ष दर्शनशास्त्र से बी ० ए ० आनर्स में सर्वोच्च अंक पाने वाली छात्रा प्रिया पाण्डेय को ‘ अघोराचार्य महाराजश्री बाबा कीनाराम स्वर्ण पदक ‘ तथा ‘ बाबा राजेश्वर राम स्वर्ण पदक ‘ प्रदान किया गया । दर्शनशास्त्र से ही एम ० ए ० में सर्वोच्च अंक पाने वाली छात्रा कुमारी नन्दिनी को ‘ अघोरेश्वर भगवान राम स्वर्ण पदक ‘ एवं ‘ बाबा गुरुपद संभव राम स्वर्ण पदक ‘ प्रदान किया गया ।

वर्ष २०१८ में दर्शनशास्त्र से ही एम ० ए ० में सर्वोच्च अंक पाने वाली छात्रा राज्यलक्ष्मी तिवारी , जो गत वर्ष किन्हीं कारणों से अपना स्वर्ण पदक नहीं ले पाई थे , को भी इसी समारोह में ‘ अघोरेश्वर भगवान राम स्वर्ण पदक ‘ प्रदान किया गया । इस अवसर पर संस्था की तरफ से श्री सर्वेश्वरी समूह के उपाध्यक्षद्वय डॉ ० ब्रजभूषण सिंह जी तथा श्री सुरेश सिंह जी व सदस्य डॉ ० अमरज्योति सिंह जी उपस्थित रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button