play-sharp-fill
छत्तीसगढ़

वन विभाग के अधिकारियों ने सा मिलो में की जांच, देवरीखुर्द का अग्रहरि मिल हुआ सील….

Advertisement

(भूपेंद्र सिंह राठौर) : वनों की अवैध कटाई, चोरी, अवैध परिवहन व चिरान रोकने वन विभाग की टीम ने अंचल के आरामिलों में छापेमार कार्रवाई की। जांच में एक आरामिल से बड़ी मात्रा में फलदार पौधों का लट्ठा व चिरान जब्त कर आरा मिल को सील कर दिया।

Advertisement

वही बिना लाइसेंस संचालित रमदा मशीन को भी जब्त किया गया है। वन विभाग की इस कार्रवाई से क्षेत्र के दूसरे आरा मिलों के संचालकों में हड़कंप मच गया है।

Advertisement

बिलासपुर शहर व आसपास क्षेत्र के कई गांवों में आरा मिल संचालित है। सोमवार को प्रशिक्षु भारतीय वन सेवा अधिकारी अभिनव कुमार के नेतृत्व में बिलासपुर रेंजर पल्लव नायक अपनी टीम के साथ डीएफओ सत्यदेव शर्मा के निर्देश पर शहर व गांव के कुछ आरा मिलों में छापामार कार्रवाई की।

टीम ने देवरीखुर्द में संचालित अग्रहरि सा मिल में भी जांच की कार्यवाही की।जांच के दौरान इस सा मिल में अवैध जामुन,कौव्हा,आम लट्ठा और चिरान मिला। वही यहां जो रमदा मशीन लगाया गया था,उसका भी लाइसेंस संचालक के पास नही था।

इसके साथ ही संचालक द्वारा डायरी मेंटेनेंस नही किया जा रहा था। जिस पर वन विभाग की टीम ने कार्यवाही करते हुए आरा मशीन को सील कर दिया साथ ही रमदा मशीन को जब्त कर लिया। बिलासपुर वनमंडल के एसडीओ अभिनव कुमार ने बताया कि संचालक द्वारा नियम विरुद्ध आरा मिल का संचालन किया जा रहा था। जिसकी जांच के बाद यहां वैधानिक कार्यवाही की गई।

वन विभाग की इस कार्रवाई से आरा मिल संचालकों में हड़कंप मच गया है। अग्रहरी आरा मिल में कार्यवाही की खबर मिलते ही आरामिल संघ के पदाधिकारी भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने इस कार्यवाही का विरोध करना शुरू कर दिया लेकिन अधिकारियों के सामने उनकी एक नही चली।

संघ ने की गई कार्रवाई पर जोरदार आपत्ति जताई है।
अवैध कार्य करते हुए पकड़े जाने पर वन विभाग ने इस आरामिल को सील कर दिया है। छापेमार कार्रवाई में बिलासपुर वन मंडल के सभी सर्किल प्रभारियों समेत उड़नदस्ता टीम के सदस्य शामिल रहे।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button