छत्तीसगढ़बिलासपुर

बिलासपुर में बिजली वालों को ना तो भाजपा के धरना प्रदर्शन और आंदोलनों का कोई डर.. और ना कांग्रेस के चेतावनियों की कोई परवाह..!

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : बिलासपुर :  छत्तीसगढ़ समेत बिलासपुर में रेलवे प्रबंधन कांग्रेस नेताओं की घुडकियों चेतावनियों और आंदोलनों के बाद भी थोक में ट्रेनों को रद्द करने की बदमाशियों से बाज नहीं आ रहा है। जबकि प्रदेश सरकार खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष खुद भी रेलवे को चेता चुके हैं कि अगर उसने रद्द की गई यात्री ट्रेनों को शुरू नहीं किया तो इसके खिलाफ आंदोलन किया जाएगा। बिलासपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल और कई नेता तो यहां तक धमकी दे चुके हैं कि यदि यात्री ट्रेनें शुरू नहीं की गई तो बिलासपुर और कोरबा जिले से कोयला भी नहीं हो ढोने  देंगे।

Advertisement


बिलासपुर ग्रामीण जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केसरवानी समेत प्रदेशभर में कांग्रेस के लोगों ने रेलवे की नादिरशाही के खिलाफ आंदोलन भी किए। लेकिन रेलवे ने इसकी कोई परवाह नहीं की। और थोक में यात्री ट्रेनों को रद्द करने की रेल प्रबंधन की बदमाशियां बिना रुके जारी रहीं।

Advertisement


कुछ इसी तरह बिलासपुर में विद्युत मंडल को ना तो भाजपा के आंदोलन की कोई परवाह है और न कांग्रेस के आंदोलन की चेतावनी की। शहर में हर दिन विभिन्न मोहल्लों में सुबह से लेकर देर रात हो रही बिजली कटौती के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी विद्युत मंडल के सभी कार्यालयों में आंदोलन धरना प्रदर्शन कर चुकी है। इस दौरान भाजपा ने विद्युत मंडल के अधिकारियों को चेतावनी दी थी कि यदि बिजली गोल करने का रवैया उसने नहीं सुधारा तो भाजपा उसके खिलाफ और गंभीर तथा उग्र आंदोलन करेगी।

इसके साथ ही बिलासपुर ग्रामीण तथा शहर जिला कांग्रेस कमेटी के लोगों ने भी बिलासपुर शहर में चल रही बिजली कटौती की समस्या के खिलाफ विद्युत मंडल के अधिकारियों को सख्त आंदोलन की चेतावनी दी है। लेकिन भाजपा के धरना प्रदर्शन और कांग्रेसी नेताओं की चेतावनियों के बाद भी बिलासपुर शहर में हर दिन हर जगह घंटों बिजली आपूर्ति ठप करने का सिलसिला कम होने की बजाय और अधिक को चला है।

रेल प्रबंधक द्वारा थोक में ट्रेनों को रद्द करने के खिलाफ तो केवल कांग्रेस के द्वारा आंदोलन प्रदर्शन और धरना आदि दिया जा रहा है। लेकिन विद्युत मंडल के खिलाफ तो कांग्रेसऔर भाजपा दोनों के द्वारा अलग-अलग धरना प्रदर्शन और आंदोलन तथा आंदोलन की चेतावनियां दी जा चुकी है। इसके बावजूद विद्युत मंडल प्रबंधन को इसकी कोई परवाह नहीं है और वह लगातार हर दिन पिछले दिन से ज्यादा लाइट गोल करने के अपने इरादों पर अंगद के पांव की तरह मजबूती से लेटा हुआ है।

बिलासपुर शहर में ऐसा कोई मोहल्ला नहीं है जहां रोज दो चार बार 1 घंटे से लेकर दो-तीन घंटे तक लाइट गोल ना होती हो। बुधवार को शहर के कई मोहल्लों में 24 घंटों के दौरान 7 बार बिजली गोल की गई। कुछ वैसा यह आलम आज गुरुवार का भी दिखाई दे रहा है। अभी गुरुवार का सूरज उगने के पहले ही विद्युत मंडल शहर के गोडपारा फीडर समेत कई इलाकों में दो बार दो दो घंटे लाइट गोल कर चुका है।

ऐसा करो शायद विद्युत मंडल के अधिकारी बिलासपुर शहर और प्रदेश के कांग्रेस भाजपा नेताओं को यह चेतावनी दे रहे हैं कि तुम चाहे जितना आंदोलन धरना प्रदर्शन धर्म की चेतावनी दे दो हम तो सुधरने वाले नहीं हैं।

Advertisement

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button