Uncategorized

काली विवाद पर TMC सांसद महुआ मोइत्रा की दो टूक- दर्ज करा लो अपनी FIR, कोर्ट में मिलूंगी

(शशि कोन्हेर) : तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा के मां काली पर दिए बयान के बाद हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा है. देशभर में कई एफआईआर दर्ज होने के बाद भी महुआ अपने बयान से पीछे हटने को तैयार नहीं हैं. महुआ ने कहा, ‘मैं मरते दम तक अपने बयान का बचाव करती रहूंगी. मैं ऐसे भारत में नहीं रहना चाहती, जहां सिर्फ भाजपा का पितृसत्तात्मक ब्राह्मणवादी दृष्टिकोण हावी रहेगा और बाकी लोग धर्म के इर्द-गिर्द घूमते रहेंगे’.

Advertisement

दरअसल, TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने मंगलवार को काली के पोस्टर को लेकर जारी विवाद पर कहा था कि काली के कई रूप हैं. मेरे लिए काली का मतलब मांस और शराब स्वीकार करने वाली देवी है. हालांकि, टीएमसी ने इस बयान दूरी बना ली थी और इसकी निंदा की थी.

Advertisement

महुआ के बयान के बाद बीजेपी ने टीएमसी सांसद को तुरंत गिरफ्तार करने के लिए शिकायत दर्ज कराई थी. ये शिकायत कोलकाता और महुआ मोइत्रा के संसदीय क्षेत्र कृष्णानगर में की गई थी. वहीं, मध्यप्रदेश के भोपाल में भी महुआ मोइत्रा के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है.

Advertisement

कैसे शुरू हुआ ‘काली’ विवाद?

इस मसले की शुरुआत लीना मणिमेकलई (Leena Manimekalai) नामक फिल्म मेकर के एक पोस्टर शेयर करने के बाद हुई. लीना ने अपनी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ का पोस्टर सोशल मीडिया पर शेयर किया था. इस पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते दिखाया गया. इसके साथ ही उनके एक हाथ में एलजीबीटी समुदाय का सतरंगा झंडा भी था. पोस्टर के सामने आते ही देशभर में इस पर बहस छिड़ गई.

भाजपा ने साधा था निशाना

महुआ के बयान के बाद पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने उन पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि हम बंगाली मां दुर्गा के बाद मां काली की शक्ति के रूप में पूजा करते हैं. ऐसा कोई बंगाली नहीं है, जो काली पूजा में फास्ट न रखता हो. मैं इस पर बयान नहीं देना चाहता कि उनकी पार्टी ने क्या किया, लेकिन अगर बंगाल पुलिस के मन में अशोक स्तंभ के प्रति रत्ती भर भी सम्मान है तो जिस तरह से उन्होंने नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई शुरू की. उनके खिलाफ देशभर में एफआईआर दर्ज हुईं. मैं चाहता हूं बंगाल पुलिस कार्रवाई करे. 10 दिन में पुलिस कार्रवाई नहीं करती. तो मैं 11वें दिन कोर्ट का रुख करूंगा.

बयान से TMC का किनारा

Advertisement

महुआ मोइत्रा के बयान के बाद बीजेपी ने TMC पर मां काली का अपमान करने का आरोप लगाया. पार्टी ने महुआ मोइत्रा को तुरंत गिरफ्तार करने के लिए शिकायत भी दर्ज कराई थी. एक तरफ महुआ अपने बयान पर कायम हैं तो वहीं दूसरी तरफ उनकी पार्टी टीएमसी ने उनके बयान से दूरी बना ली. टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने महुआ के बयान पर कहा कि तृणमूल कांग्रेस, उनके बयान का समर्थन नहीं करती है. टीएमसी इस बयान से इत्तेफाक नहीं रखती. महुआ का बयान पार्टी की विचारधारा से अलग है. हमारी पार्टी सभी धर्मों का समान रूप से आदर करती है और महुआ ने जो कहा है वह पार्टी की विचारधारा से अलग है.

Advertisement

शशि थरूर ने किया था बचाव

एक तरफ जहां महुआ के बयान से उनकी पार्टी ने पल्ला झाड़ लिया तो दूसरी तरफ कांग्रेस नेता शशि थरूर टीएमसी सांसद का समर्थन किया. शशि थरूर ने ट्वीट कर कहा कि महुआ मोइत्रा ने वही कहा जो हर हिंदू जानता है. शशि थरूर ने लिखा कि महुआ पर हो रहे हमलों ने मुझे अचंभे में डाल दिया है. ये हमले वह चीज कहने के लिए हो रहे हैं, जो कि हर हिंदू जानता है. हिंदू जानते हैं कि हमारी पूजा का तरीका देश के अलग-अलग हिस्सों में एक जैसा नहीं है. देवी को कोई क्या चढ़ाता है, यह देवी से ज्यादा भक्त के बारे में बताता है.

कनाडा में रहती हैं फिल्म मेकर

फिल्म काली का विवादित पोस्टर जारी करने वाीलीं फिल्म मेकर लीना कनाडा में रहती हैं और सालों से फिल्म बना रही हैं. उनकी ये डॉक्यूमेंट्री फिल्म कनाडा में दिखाई जाएगी. लीना के मुताबिक, उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म टोरंटो में ‘अंडर द टेंट’ प्रोजेक्ट का हिस्सा है. लीना ने सोशल मीडिया पर 2 जुलाई को इसका पोस्टर रिलीज किया था. पोस्टर सामने आने के बाद #ArrestLeenaManimekalai ट्रेंड कर रहा है. विवाद बढ़ने के बाद कनाडा में भारतीय उच्च आयोग ने भी आपत्ति दर्ज कराई है. भारतीय उच्च आयोग ने इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button