राजनांदगांव

जनता के भरोसे पर खरी उतरी है छत्तीसगढ़ सरकार, 36 में से 30 वादे किए पूरे : अभिमन्यु मिश्रा

Advertisement

राजनांदगांव – विधानसभा सत्र के दौरान भाजपा द्वारा लाये गए अविश्वास प्रस्ताव व भाजपा के प्रदर्शनों पर टिप्पणी करते हुए छत्तीसगढ़ युवा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अभिमन्यु मिश्रा ने जारी बयान में कहा है की छत्तीसगढ़ की जनता ने जो विशाल बहुमत कांग्रेस को दिया है और जो भरोसा दिखाया है उसपर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार शत प्रतिशत खरी उतरी है, 5 सालों के लिए जो घोषणापत्र चुनाव के पहले जारी किया उसमे 36 वादे थे जिसमें से 30 वादे 4 साल पूर्ण होने से पहले ही पूरे हो भी चुके हैं साथ ही कई जनहितकारी कार्य किये हैं जिसमे मुख्यतः किसान कर्ज माफी जो कि शपथ लेते ही पूरी की गई, बिजली बिल हाफ योजना, शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, भूमिहीन कृषि मज़दूर न्याय योजना, 2500 में धान खरीदी, धन्वंतरि मेडिकल स्टोर, मोर मकान मोर चिन्हारी, छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना, पौनी पसारी योजना, डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना, मितान योजना, नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना, गोधन न्याय योजना जैसी योजनायें मील का पत्थर साबित हुई है, गोबर खरीदी की तारीफ प्रधानमंत्री ने भी की है और कई राज्य इसे अपना भी रहे हैं एयर अब तो गोमूत्र खरीदी भी शुरू हो चुकी है, और दूसरा छत्तीसगढ़िया मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ की संस्कृति को जो बढ़ावा मिला है त्योहारों को व्यंजनों को देश भर में सम्मान मिला है वो आजतक कभी नही हुआ व पिछला बजट जो पेश किया गया वो छत्तीसगढ़ के इतिहास का सबसे बड़ा बजट रहा तो निश्चित ही छत्तीसगढ़ नए आयामों को छू रहा है जिसमे कोई संदेह नही है।

Advertisement


श्री मिश्रा ने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि उन्हें कुछ भी कहने करने से पहले अपने गिरेबान में झांकना चाहिए की 15 सालों में उन्होंने छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ का जो शोषण किया है उसके बाद भी किस मुह से वो जनता के हितैषी होने का ढोंग कर रहे हैं सबसे पहले तो भाजपा खुद के प्रथम 3 घोषणापत्र देखे जिसमे हर आदिवासी को सरकारी नौकरी, लघु सीमांत किसानों की कर्जमाफी, पट्टा देने का वादा, किसान को 24 घंटा बिजली देने का वादा, धान का 300 बोनस, एक एक दाना धान खरीदने का वादा, ये सब तो कुछ नही हुआ उल्टा इसके बदले रमन की दमनकारी सरकार ने झीरम घाटी कांड, पनामा पेपर्स, ऑगस्टा वेस्टलैंड घोटाला, नान घोटाला, इंदिरा प्रियदर्शिनी बैंक घोटाला, चिट फण्ड घोटाला, झिलमियारी कांड, नसबंदी कांड, अखफोड़वा कांड, पोराबाई प्रकरण, संतराम हत्याकांड, मीना खलखो हत्याकांड जैसे बदनुमा दाग छत्तीसगढ़ को दिए भाजपा के 15 सालों में 22000 किसानों ने आत्महत्या की 600 स्कूल बंद हुए 700 गांव खाली करा दिए गए, 27000 महिलाएं गायब हो गईं।

Advertisement

जिनमे 11000 तो तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह के गृह जिले कवर्धा की थी रमन सिंह के केंद्रीय मंत्री रहते हुए राजनांदगांव की बी एन सी मिल बंद हुई लेकिन वो चुप रहे संस्कृति के नाम पर छत्तीसगढ़ियों को केवल दिल्ली के मेहमानों के सामने नचाया गया, भाजपा की सरकार केंद्र में आने के बाद भाजपा की कुल घोषित संपत्ति 700 करोड़ से बढ़ कर अब तक 4000 करोड़ हो चुकी है जनता कंगाल हो रही है, और भाजपा मालामाल होती जा रही है, और फिर ये कहते हैं कि 70 साल में कांग्रेस ने क्या किया उसका सीधा जवाब यही है कि कांग्रेस ने वही किया है जो आप आज बेच कर देश चला रहे हैं।

एक ओर जहां 2 करोड़ रोज़गार के नाम पर केंद्र ने जनता को छला है वहीं छत्तीसगढ़ में जो योजना क्रियान्वयन में है उसको ले कर विरोध किया जा रहा है, पहले भाजयुमो प्रधानमंत्री का पुतला जलाए जो युवाओं को नौकरी के बदले पकोड़ा तलने की हिदायत देते है 8 प्रतिशत से ज़्यादा बेरोज़गारी दर देश मे है और छत्तीसगढ़ में 0.6 इसके बाद भी राज्य सरकार का विरोध हास्यास्पद है, फिलहाल तो विरोध करना छोड़ केवल अगर भाजपाई अपने 15 सालों के कुकर्म गिने तो अगले 5 साल उसमे ही बीत जाएंगे।


उन्होंने यह भी कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता अब जाग चुकी है और सब कुछ समझती है और भाजपा के इन भ्रामक बेहकावो में न आकर फिर से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाएगी ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button