देश

चंद्रयान-3 ने कराया चांद का दीदार, ISRO ने जारी किया वीडियो

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : भारत के तीसरे मानवरहित चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-3’ ने चंद्रमा की पहली झलक दिखाई है। अंतरिक्ष यान के चंद्रमा की कक्षा में सफलतापूर्वक प्रवेश करने के एक दिन बाद यह तस्वीर सामने आई है। इसे लेकर ट्वीट में कहा गया, ‘5 अगस्त 2023 को चंद्र कक्षा में प्रवेश (LOI) के दौरान चंद्रयान-3 अंतरिक्ष यान से देखा गया चंद्रमा।’

Advertisement

चंद्रयान-3 को 22 दिन पहले चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने के लिए प्रक्षेपित किया गया था, जहां अब तक कोई भी देश नहीं पहुंचा है। चंद्रयान-3 को बिना किसी गड़बड़ी के चंद्रमा के करीब लाने वाली आवश्यक प्रक्रिया बेंगलुरु स्थित अंतरिक्ष इकाई से पूरी हुई। इसके बाद चंद्रयान-3 ने इसरो को संदेश भेजा, ‘मैं चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण महसूस कर रहा हूं।’

Advertisement

चंद्रयान का चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के महत्वाकांक्षी 600 करोड़ रुपये के मिशन में बड़ा मील का पत्थर साबित हुआ। 14 जुलाई को प्रक्षेपित होने के बाद से अंतरिक्ष यान ने चंद्रमा की लगभग दो-तिहाई दूरी तय कर ली है और अगले 18 दिन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के लिए महत्वपूर्ण होंगे। इसरो ने उपग्रह से मिले संदेश को अपने केंद्रों के साथ साझा किया, जिसमें लिखा था, ‘एमओएक्स, इस्ट्रैक, यह चंद्रयान-3 है। मैं चंद्रमा का गुरुत्वाकर्षण महसूस कर रहा हूं।’

चंद्रयान से मिला ISRO को संदेश
संदेश में कहा गया, ‘चंद्रयान-3 सफलतापूर्वक चंद्रमा की कक्षा में स्थापित हो गया है। मिशन ऑपरेशंस कॉम्प्लेक्स (एमओएक्स), आईएसटीआरएसी (इसरो टेलीमेट्री, ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क), बेंगलुरु से इसे निर्देशित किया गया।’ इसरो ने कहा कि अगला अभियान कार्य रविवार रात 11 बजे किया जाएगा। इसके तहत चंद्रयान-3 की कक्षा को घटाया जाएगा। 14 जुलाई को प्रक्षेपण के बाद से तीन हफ्तों में इसरो चंद्रयान-3 को पृथ्वी से दूर चंद्रमा की कक्षा की तरफ उठाने का कार्य कर रहा था। इसके बाद एक अगस्त को एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया में यान को पृथ्वी की कक्षा से चंद्रमा की ओर सफलतापूर्वक भेजा गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button