छत्तीसगढ़

फर्जी मुख्तियारनामा बनाकर जमीन बेचने का प्रयास, अपराध दर्ज

(आशीष मौर्य ) : सरकंडा  थाना क्षेत्र अंतर्गत बिजौर की खसरा नंबर 335 /6 रकबा 1 एकड़ 13 डिसमिल जमीन का फर्जी मुख्तियार नामा तैयार करने के मामले में आखिरकार सरकंडा पुलिस ने 2 महीने बाद जमीन मालिक शंकर लाल कछवाहा की रिपोर्ट पर आरोपी सीमा देवी और अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है.13/03/2022 को आरोपी महिला सीमा देवी ने पंजीयन कार्यालय से फर्जी मुख्तियार नामा तैयार करवाया।

Advertisement

पर्दे के पीछे जमीन दलाल पंकज परासर दुबे, बादल खूंटे एक महिला सरस्वती गेंदले  ने पूरा काम किया. सरकंडा पुलिस आगे जाँच में इनका नाम प्रकरण में जोड़ेगी. पंजीयन कार्यालय से  फर्जी मुखियारनामा की सत्यापित प्रति प्राप्त होने के बाद प्रकरण में कूटरचना, फर्जी दस्तावेज बनाने और षड्यंत्र की धारा 120 बी जोड़ी जाएगी.

Advertisement
फर्जी मुख्तियारनामा

जमीन दलाल पंकज पराशर दुबे और बादल खूटे ने रची थी साजिश :- फर्जी मुख्तियार नामा बनाने के पीछे पंकज और बादल ने षड्यंत्र रचा था. दोनों जमीन दलालों ने फर्जी मुख्तियार नामा के जरिए जमीन को योगेश मिश्रा को बेचना चाहा।

Advertisement
शंकरलाल कछवाहा पीड़ित

इसके एवज में पंकज दुबे और बादल खुटे ने सीमा देवी के नाम दो लाख का चेक  लिया और नगद तीन लाख  कुल पांच लाख रूपए  लिया. फर्जी मुख्तियार नामा तैयार करने में किसी सरस्वती गेंदले का भी नाम सामने आ रहा है.

आरोपी सिमा देवी

पंजीयन कार्यालय ने आंख मूंदकर बनाया फर्जी मुख्तियारनामा :- रजिस्ट्री कार्यालय में तैयार किए गए फर्जी मुख्तियारनामा लेकर तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं. प्रार्थी शंकरलाल कछवाहा के स्थान पर फर्जी व्यक्ति को खड़ा कर मुख्तियार नामा तैयार किया गया, वही गवाह के रूप में दो लोगों ने  शंकर कछवाहा की पहचान भी की. जबकि शंकर लाल कछवाहा ने कभी मुख्तारनामा ही नहीं बनाया।

जांच के बाद में जोड़ी जाएगी षड्यंत्र कूटरचना और फर्जी दस्तावेज बनाने की धाराएं:- सरकंडा थाना प्रभारी ने मुख्तियारनामा की सत्यापित प्रति के लिए पंजीयन कार्यालय में आवेदन लगाया है. थाना प्रभारी उत्तम कुमार साहू का कहना है कि जांच के बाद दोषियों के खिलाफ और भी धाराएं जोड़ी जाएंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button