छत्तीसगढ़

शौचालय निर्माण में 1500 करोड़ रुपये का घोटाला,सीएम बघेल ने लगाया आरोप

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : रायपुर। मुख्यमंत्री बघेल ने रमन सिंह की सरकार में राज्य को ओडीएफ घोषित करने पर सवाल उठाते हुए शौचालय निर्माण में 1500 करोड़ रुपये के घोटाले का आरोप लगाया है। सीएम बघेल ने कहा, एनएफएचएस रिपोर्ट के अनुसार, शहरी क्षेत्र में केवल 88 प्रतिशत लोग शौचालय का उपयोग करते हैं ।

Advertisement

और ग्रामीण क्षेत्रों में 73.5 प्रतिशत लोग शौचालय का उपयोग करते हैं। औसतन, केवल 76.8 प्रतिशत लोग शौचालय का उपयोग कर रहे हैं। यह यानी 23 प्रतिशत लोग इसका उपयोग नहीं कर रहे हैं।

Advertisement

मुख्यमंत्री ने कहा, छत्तीसगढ़ को ओडीएफ और ओडीएफ+ घोषित किया जा चुका है, लेकिन आंकड़ों के मुताबिक, 16 लाख परिवार अभी भी शौचालय का उपयोग नहीं कर रहे हैं। रमन सिंह की सरकार में राज्य को ओडीएफ घोषित किया गया था। यह (विसंगति) से पता चलता है कि शौचालय निर्माण में 1500 करोड़ रुपये का घोटाला किया गया है। लेकिन कोई जांच नहीं हो रही है। इसकी भी ईडी या आईटी से जांच होनी चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक साथ नौ वंदे भारत ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा, रेल मंत्री के पास कोई काम नहीं है। उन्हें तभी भेजा जाता है जब कोई दुर्घटना होती है। पीएम हरी झंडी दिखाने आते हैं। यात्री उन ट्रेनों का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, क्योंकि किराया अधिक है।

सीएम बोले, जो यात्री ट्रेन हैं जिसमें पैसेंजर सफर करते हैं, वो लगातार बंद हो रहे हैं। इस पर प्रधानमंत्री कुछ नहीं बोल रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने आंदोलन भी किया। उसके बाद भी हालात में कोई सुधार नहीं हो रहा है। सीएम बघेल ने तंज कसते हुए कहा, प्रधानमंत्री रेलवे गलियारों का उद्घाटन कर रहे हैं, लेकिन यह यात्रियों के लिए नहीं है, बल्कि कोयला गिराने के लिए है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button