देश

अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न अंग….चीन की चाल के ख़िलाफ़ भारत को अमेरिका का मिला साथ

(शशि कोन्हेर) : वाशिंगटन – अमेरिका ने चीन के नागरिक मामलों के मंत्रालय के अरुणाचल प्रदेश के 11 जगहों के नाम बदले जाने को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. अमेरिका ने भारत का समर्थन करते हुए कहा कि वह अरुणाचल प्रदेश को भारत के अभिन्न अंग के रूप में मान्यता देता है और क्षेत्रीय दावों के तहत स्थानीय इलाकों का नाम बदलने के किसी भी एकतरफा प्रयास का कड़ा विरोध करता है. दरअसल चीन अरुणाचल प्रदेश के इस क्षेत्र को दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा बताकर इस पर अपना दावा करता है.

Advertisement


व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कैरिन ज्यां-पियरे ने कहा, “अमेरिका उस क्षेत्र (अरुणाचल प्रदेश) को लंबे समय से (भारत के अभिन्न अंग के रूप में) मान्यता देता रहा है. हम इलाकों का नाम बदलकर क्षेत्रीय दावों को आगे बढ़ाने के किसी भी एकतरफा प्रयास का कड़ा विरोध करते हैं.”

Advertisement

वहीं अरुणाचल प्रदेश के कुछ स्थानों का चीन द्वारा पुन: नामकरण किए जाने के बीच भारत ने मंगलवार को कहा कि यह राज्य भारत का अभिन्न एवं अटूट हिस्सा है और मनगढ़त नाम रखने से यह हकीकत बदल नहीं जाएगी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, “हमने ऐसी खबरें देखी हैं. यह पहली बार नहीं है, जब चीन ने ऐसी कोशिश की है. हम इसे सिरे से खारिज करते हैं.”

Advertisement

गौरतलब है कि हाल में चीन ने अरुणाचल प्रदेश के लिए ‘चीनी, तिब्बती और पिनयिन’ अक्षरों में नामों की तीसरी सूची जारी की है. चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के लिए जारी मानकीकृत भौगोलिक नामों की यह तीसरी सूची है. अरुणाचल में छह स्थानों के मानकीकृत नामों की पहली सूची 2017 में और 15 स्थानों की दूसरी सूची 2021 में जारी की गई थी.


चीन द्वारा अरुणाचल प्रदेश के कुछ स्थानों का पुन: नामकरण ऐसे समय में किया है, जब पूर्वी लद्दाख में मई 2020 में दोनों देशों के बीच शुरू गतिरोध अभी तक समाप्त नहीं हुआ है.

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button