देश

आगरा दयालबाग सत्संग पीठ बवाल….गोद में बच्चों को लेकर ललकारतीं रहीं महिलाएं….लाचार दिखी पुलिस

Advertisement


(शशि कोन्हेर) : यूपी के आगरा जिले में बड़ा बवाल हुआ। पुलिस और सत्संगी आमने-सामने आ गए। इस दौरान सत्संगियों ने पुलिस बल पर पथराव कर दिया। आगरा पुलिस प्रशासन की टीम रविवार को तैयारी के साथ नहीं गई थी। शनिवार को फोर्स अधिक था। दो कंपनी पीएसी साथ थी। रविवार को फोर्स कम था। पुलिस को अंदाजा नहीं था कि इस बार गेट तोड़ना किसी चुनौती से कम नहीं होगा। सत्संगियों ने पहले से तैयारी कर रखी थी। हजारों की संख्या में सत्संगी टेनरी मार्ग पर गेट नंबर आठ के अंदर मौजूद थे। सत्संगी लगातार एनाउंसमेंट कर पुलिस को चेतावनी दे रहे थे।

Advertisement

सत्संगियों की भीड़ में नौजवानों से ज्यादा महिलाएं और बुजुर्ग शामिल थे। पुलिस चाहकर भी उनके साथ सख्ती नहीं कर सकती थी। वहीं दूसरी तरफ गेट नंबर आठ पर मोर्चा संभाले महिलाएं पुलिस को ललकार रही थीं। सबसे आगे कुछ महिलाएं अपनी गोद में बच्चों को लिए हुई थीं। पुलिस ने जैसे ही आगे बढ़ने का प्रयास किया। माइक पर बच्चे के रोने के आवाज लोगों को जानकर सुनाई गई। यह बताने का प्रयास किया गया कि पुलिस महिलाओं और बच्चों के साथ सख्ती कर रही है।

Advertisement

शाम करीब पौने पांच बजे का समय था। गेट नंबर आठ पर सबसे सबसे आगे डीसीपी सिटी सूरज कुमार राय, एसीपी ताज सुरक्षा सैयद अरीब अहमद, एसओ न्यू आगरा राजीव कुमार सबसे आगे थे। अंदर से सत्संगी राधा स्वामी का जाप कर रहे थे। माइक ऑन था। चारों तरफ आवाज गूंज रही थीं। यह आवाज एकता जताने के लिए थी। इसका असर कुछ ही देर में देखने को मिला। चारों तरफ से सत्संगियों की भीड़ आने लगी। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए सड़क पर बैरियर लगा दिए।

संघर्ष एक दिन पहले जो दीवार तोड़ी उसी की ईंटों से पथराव
पुलिस के हाथ में डंडे थे। पुलिस को उम्मीद नहीं थी कि सत्संगियों की तरफ से पथराव शुरू हो जाएगा। कई पुलिसकर्मियों ने हेलमेट तक नहीं लगा रखा था। बॉडी प्रोटक्टर नहीं थे। शनिवार को टेनरी गेट के बराबर में एक बड़ी दीवार जेसीबी से तोड़ी गई थी। उसकी ईंट मौके पर पड़ी थीं। सत्संगियों ने इसी जगह मोर्चा संभालकर पुलिस प्रशासन पर पथराव किया। पथराव करने वालों में सिर्फ पुरुष ही नहीं महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे। पथराव होते ही अफरा-तफरी मच गई। पुलिस को भागकर पीछे हटना पड़ा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button