छत्तीसगढ़

जन सुनवाई के दौरान एक किसान की हार्ट अटैक से हुई मौत, शक पैदा कर रहा है पुलिस का मौन

Advertisement

(शशि कोन्हेर) : रायगढ़ : छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के खरसिया विधानसभा के ग्राम कुनकुनी में शुक्रवार की दोपहर मेसर्स साल स्टील पावर लिमिटेड कुनकुनी जनसुनवाई के दौरान हार्ड अटैक से एक किसान की मौत होने गई। किसान कंपनी के जनसुनवाई में आया था। इस मामले में पुलिस कुछ भी बयान नही दे रही है बल्कि उल्टे ही किसान की मौत को छुपाने का प्रयास करते हुए यह बता रही है कि मृतक किसान अपने बेटे के साथ पेशी में गया था और लौटते समय उसकी मौत जन सुनवाई स्थल के पास हो गई। किसान की मौत के बाद जनसुनवाई स्थल पर उनके साथी काफी आक्रोशित हैं और पुलिस व प्रशासन पर उद्योगपतियों का साथ देने का आरोप लगाया है।

Advertisement

जानकारी के अनुसार मृतक किसान का नाम गौरीशंकर पटेल है और वह खरसिया विधानसभा क्षेत्र के ग्राम दर्रामुड़ा का निवासी है जो अपने गांव वालों के साथ आज सुबह 11 बजे से ही उद्योग की जनसुनवाई में शामिल होनें के लिये गया था और जनसुनवाई के दौरान वह कुर्सी मंे बैठा हुआ था उस दौरान अचानक उसे हार्ट अटैक आया और वह गिर गया और उसके गिरते ही पुलिस वालों ने उसे तत्काल उठाकर अस्पताल भेज दिया, जब तक लोग समझ पाते तब पुलिस मृतक किसान को लेकर जा चुकी थी। इसलिये मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है।

Advertisement

छत्तीसगढ़ में बढ़ते उद्योगों के चलते प्रदूषण की मार से जिले के लोग खासे परेशान हैं और जनसुनवाई के दौरान विरोध के स्वर भी मुखर करते हैं लेकिन भारी विरोध के बावजूद जिले में नये उद्योगो की संख्या बढ़ रही है। जन चेतना मंच व पर्यावरण प्रेमी राजेश त्रिपाठी बताते हैं कि जिले में बढ़ते प्रदूषण से खेत खलिहान तो नष्ट हो ही रहें है साथ ही साथ जलवायु में भी बड़ा परिवर्तन आया है जिससे लोगों में सांस व ब्रोंकाईटिस जैसी गंभीर बीमारियां फैल रही है। उन्होंने बताया कि आज भी सार स्टील की जनसुनवाई के दौरान भी खरसिया विधानसभा क्षेत्र के एक दर्जन से भी अधिक गांव के लोग विरोध के लिये जुटे थे और इसी दौरान मृतक गौरीशंकर पटेल भी वहां कुर्सी मंे बैठकर अपने साथियों के साथ अपनी बारी का इंतजार कर रहा था इसी दौरान उसे हार्ट अटैक आया और वह कुर्सी से गिर पड़ा। जिसे मौके पर तैनात पुलिस कर्मियों ने जन विरोध को दबाने के लिये तत्काल किसान को वहां से गायब कर दिया और अब झूठ बोलकर इसकी मौत को जनसुनवाई से हटकर बता रही है।

मृतक किसान गौरीशंकर पटेल खरसिया के ग्राम कुनकुनी स्थित सार स्टील की जनसुनवाई में शामिल होनें के लिये गया था लेकिन उसकी हार्ट अटैक से मौत के बाद खरसिया थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस अधिकारी कोई भी बयान देने का तैयार नही है बल्कि वे यह कह रहे हैं कि मृतक गौरीशंकर पटेल अपने बेटे के साथ जनसुनवाई स्थल के पास पहुंचा था, तब उसकी हार्ट अटैक से मौत हुई है इससे पहले वह पेशी में गया था, जनसुनवाई स्थल में वह गया ही नही था। जबकि मौके पर उनके साथियों ने अपने साथी किसान की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि वह उनके सामने ही कुर्सी से गिरा है और उसकी मौत हो गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button