छत्तीसगढ़मुंगेली

500 रुपये के लिए कर दी युवक की हत्या, 2 आरोपी गिरफ्तार, मुंगेली पुलिस ने सुलझाया अंधे कत्ल का मामला….

Advertisement

मुंगेली : अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में मुंगेली पुलिस को बड़ी सफलता मिली हैं, रविवार को हत्या के मामले का खुलासा हुआ है,  पुलिस ने इस मामले में 2 आरोपियों के गिरफ्तार किया है, पकड़े गए आरोपियों से खुलासा हुआ कि महज 500 रुपये के लिए युवक की हत्या की गई थी, पुलिस को इस अंधे कत्ल का सुराग एक शराब की दुकान से मिला।

Advertisement

मृतक के पुत्र ने कोतवाली थाना में मामला दर्ज कराया कि उसके पिता हंसराज जांगड़े तिवरा बेचने 22 फरवरी को मुंगेली गए थे, बाकी लोग फास्टरपुर गाँव वापस आगये और हंसराज मुंगेली में ही रुक गया, इस पर मुंगेली ने गुम इंसान की तलाश शुरू की, पुलिस को 27 फरवरी को ग्राम ढेढाधौरा शासकीय तालाब में शव मिला था, शव पुराना था और उसे जानवरों ने भी काफी नुकसान भी पहुंचाया था।

Advertisement

पुलिस की प्राथमिक जांच में गले में गमछा और खून के निशान होने पर हत्या की आशंका हुई, पुलिस ने जब शव का पोस्टमॉर्टम कराया तो हत्या होने की बात सामने आई, पुलिस ने जांच में अपने साथ डॉग स्क्वायड और फोरेंसिक टीम को भी शामिल किया, फॉरेंसिक रिपोर्ट और पोस्टमार्टम के रिपोर्ट से पता चला कि युवक की हत्या करने से मौत हुई है।

जिसके बाद अज्ञात अपराधियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। आरोपियों की छानबीन में भी जुटी पुलिस को पता चला कि जिस युवक की मौत हुई है उसका नाम हंसराम जांगड़े था, उसे आखिरी बार शराब की दुकान पर कुछ लोगों के साथ देखा गया था, पुलिस ने जब सीसीटीवी खंगाले तो हंसराम के साथ अमरदीप और रितेश नाम के दो युवक दिखाई दिए, दोनों ही लखनपुर के रहने वाले हैं, फिर क्या पुलिस ने दोनों को गांव से उठा लिया।

दोनों आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि अमरदीप ने शराब पीने के लिए हंसराम के पास 500 रुपए में मोबाइल गिरवी रखा था, इसी 500 रुपये से तीनों ने शराब पी थी, लेकिन गांव जाते वक्त अमरदीप और हंसराम का झगड़ा हो गया, क्योंकि जब हंसराम के पास गिरवी रखे मोबाइल पर कॉल आया तो अमरदीप ने मोबाइल वापस मांगा।

लेकिन हंसराम ने मोबाइल देने से इंकार कर दिया और 500 रुपए वापस करने पर ही मोबाइल देने की बात कही, इसी बात पर हंसराम जांगड़े और आरोपियों के बीच झगड़ा और विवाद हो गया, अमरदीप ने मृतक के जबड़े में डंडे से वार कर दिया, इससे हंसराम की मौके पर ही मौत हो गई।

हंसराम की बात के बाद डरे हुए आरोपियों ने उसके शव को ठिकाने लगाने का फैसला किया, इसके बाद आरोपी लाश को छिपाने के लिए टेढ़ाधौरा ग्राम स्थित शासकीय तालाब में ही फेंक कर फरार हो गए, वही एसपी गिरजा शंकर जायसवाल ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ में हत्या और हत्याकर साक्ष्य छिपाने की धारा में अपराध पंजीबद्ध कर न्यायिक हिरासत में पेश किया जाएगा।

Advertisement

गिरफ्तार आरोपी –
अमरदीप उर्फ दीपू बघेल उर्फ कीलर पिता अजय बघेल उम्र 22 वर्ष निवासी लछनपुर थाना फास्टरपुर
रितेश उर्फ भोलू  पिता विरेन्द्र जांगड़े उम्र 24 वर्ष निवासी लछनपुर थाना फास्टरपुर

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button