play-sharp-fill
देश

व्हाट्सएप यूजर्स के ऊपर बड़ा खतरा, WhatsApp कॉल के जरिए हो रहा खेल..

Advertisement

यूजर्स के ऊपर वॉट्सऐप कॉल के जरिए होने वाले फ्रॉड्स का खतरा काफी बढ़ गया है। इसी को देखते हुए डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) ने यूजर्स के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें यूजर्स को उन वॉट्सऐप कॉल्स से अलर्ट रहने के लिए कहा गया है जो विदेशी मोबाइल नंबर्स से आते हैं।

Advertisement

DoT ने कहा कि +92-XXXXXXXXXX जैसे नंबर्स के आने वाले कॉल्स से यूजर्स को सावधान रहने की जरूरत है। DoT के नाम पर किए जा रहे इन फेक कॉल्स में यूजर्स को नंबर डिस्कनेक्ट होने या नंबर के गैरकानूनी इस्तेमाल की बात कह कर डराया जा रहा है।

Advertisement


साइबर क्रिमिनल्स ऐसी कॉल फाइनेंशियल फ्रॉड और यूजर के डेटा की चोरी के लिए कर रहें हैं। यूजर्स से DoT ने कहा कि वह अपने नाम पर किसी को भी इस तरह की कॉल करने की अनुमति नहीं देता।

ऐसे में यूजर्स के लिए बेहतर यही है कि वह ऐसी किसी कॉल पर भरोसा न करें। अगर गलती से इस तरह की कॉल रिसीव हो गई हो, तो किसी भी हालत में अपनी डीटेल कॉलर को न दें।

मंत्रालय ने यूजर्स से कहा है कि वे इस तरह की कॉल्स को संचार साथी पोर्टल के Chakshu-Report Suspected Fraud Communications पर रिपोर्ट करें। यूजर्स की इस समझदारी से DoT को टेलिकॉम सर्विस के इस्तेमाल से हो रहे फाइनेंशियल फ्रॉड्स और साइबर क्राइम्स को रोकने में काफी मदद मिलती है।


DoT ने कहा कि यूजर संचार साथी पोर्टल पर जा कर Know Your Mobile Connections सेवा के जरिए अपने मोबाइल कनेक्शन को चेक कर सकते हैं। अगर यूजर को उनकी जानकारी के बिना लिया गया मोबाइल नंबर दिखता है, तो वे उसकी शिकायत कर सकते हैं। इसमें यूजर अब इस्तेमाल न हो रहे नंबर की जानकारी भी दे सकते हैं।

DoT ने यूजर्स के किसी भी तरह के साइबर क्राइम या फ्रॉड को हेल्पलाइन नंबर 1930 या www.cybercrime.gov.in पर रिपोर्ट करने के लिए भी कहा है। Chakshu सर्विस को 4 मार्च को लॉन्च किया गया था। यह यूजर्स को ऑनलाइन फ्रॉड की शिकायत करने की सुविधा देता है। कम्युनिकेशन मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव ने कहा कि सरकार सिक्योर इंडिया प्रोजेक्ट के तीन लेवल- नैशनल, ऑर्गनाइजेशनल और इंडिविजुअल पर साइबर फ्रॉड्स को रोकने के लिए लगातार काम कर रही है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button