छत्तीसगढ़

बस्तर से भी उठी बाल विवाह रोकने आवाज,बस्तर के युवा बाल विवाह मुक्त भारत अभियान का कर रहे प्रचार..

Advertisement

रायपुर :  बाल विवाह मुक्त भारत अभियान में बस्तर के सुदूर अंचल के युवा भी बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं और सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने के लिए योगदान देने में कदम बढ़ा रहे हैं।

Advertisement

आज राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने बाल विवाह मुक्त भारत अभियान को आगे बढ़ाते हुए बाल विवाह मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान की शुरुआत की।

Advertisement

बस्तर जैसे आदिवासी बहुल क्षेत्र में बाल विवाह को रोकने के लिए काम कर रहे युवा भी हस्ताक्षर पोस्टर के साथ मौजूद रहे। बस्तर के युवाओं की इस टीम में बकावंड की अनिता नेताम व प्रमिला बघेल, नकटीसेमड़ा की ज्योति सोम, बड़ेदेवरा से मीनकुंवर कश्यप, लामकेर के अजय मौर्य व मंधोता के चंद्रकुमार नाग शामिल रहे।

उन्होंने मुख्यमंत्री से मिलकर छत्तीसगढ़ में बाल विवाह रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों और जागरूकता अभियान के संदर्भ में जानकारी दी।

इन युवाओं ने बताया कि बीते तीन साल से इन युवाओं की टीम बस्तर क्षेत्र में अनेक सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ जागरूकता अभियान चला रही है। वहीं बस्तर में स्वास्थ्य जागरूकता के लिए भी काम किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभियान के माध्यम से बाल विवाह के 87 फीसदी तक मामले रोकने में सफलता मिली है। वहीं विष्णु देव सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं व जागरूकता अभियान के जरिए जल्द ही सौ फीसदी सफलता की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button